हाईवे से दूर बार वालों की बल्ले-बल्ले

 Mumbai
हाईवे से दूर बार वालों की बल्ले-बल्ले

मुंबई वेस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे से सटे बार बंद होने के बाद उपनगर में अंदर स्थित बार वालों की बल्ले-बल्ले हो गयी है। गोरेगांव लिंक रोड पर स्थित एक बार मैनेजर से मिली जानकारी के मुताबिक जब से हाईवे से सटे बार बंद हुए हैं, तबसे उपनगर के सभी बारों में शाम होते ही कस्टमर की लाइन लगी रहती हैं। नोट बंदी के बाद धंधे में जितना नुकसान हुआ था। बार बंदी के बाद उतना ही धंधे में उछाल आ गया है। राजू अन्ना नाम के एक बार मालिक ने बताया कि हाईवे से सटे बार बंदी के बाद मुंबई के अंदर के बारों को जितना फायदा हो रहा है उससे कहीं ज्यादा फायदा हुक्का पार्लर वालों को भी मिल रहा हैं। मिली जानकारी के मुताबिक पहले शहर के अंदर के बारों में कस्टमर बहुत कम आते थे। लेकिन अभी बारों में ग्राहकों की भीड़ इस कदर बढ़ रही है कि उसके अंदर एक्सट्रा सोफ़ा लगाने पड़ रहे हैं।

हाईवे से सटे बार बंद होने के बाद शहर के अंदर बार वाले जितना खुश हैं तो दूसरी तरफ उनको भी इस बात का डर लगा हैं कि सरकार आज हाईवे से सटे बार बंद कर रही है कल को लिंक रोड और एस वी रोड से सटे बार भी बंद कर सकती है। बार में बैठने वालों की मानें तो हाईवे से सटे बार बंद होने के बाद उनके जेबखर्चे दोगुना बढ़ गए हैं। क्योंकि दहिसर और मीरा रोड हाईवे से सटे बारों में मुंबई की अपेक्षा काफी कम खर्चों में उनका काम चल जाता था और शहर से दूर होने के नाते ज्यादा किसी बात का रिस्क भी नहीं था। लेकिन अब मुंबई शहर के अंदर के बारों के भाव भी बढ़ गया है। साथ ही मुंबई पुलिस का भी डर लगा रहता है। मुंबई के अंदर अक्सर पुलिस की नाकाबंदी रहती है। जबकि हाईवे पर इतना डर नहीं था।

Loading Comments