सायली राणे अब खतरे से बाहर, जोगेश्वरी इलाके में हुई थी दुर्घटना का शिकार

घटना 31 दिसंबर की है, सयाली राणे अपने कोचिंग क्लास से घर लौट रही थी तभी पीछे से आती एक तेज रफ्तार कार ने उसे पीछे से टक्कर मार दी। यह टक्कर काफी तेज थी।

SHARE

पिछले रविवार को जोगेश्वरी में रहने वाली 21 वर्षीय सयाली राणे का उस समय एक्सीडेंट हो गया था जब वह कोचिंग से अपने घर लौट रही थी। उसे गंभीर अवस्था में अंधेरी के होली स्पिरिट अस्पताल दाखिल कराया गया था जहां डॉक्टरों ने सयाली के कोमा में जाने की बात कही थी। अब इस मामले डॉक्टरों ने पुष्टि की है कि अब सयाली की तबियत अच्छी है, वह खतरे से बाहर है लेकिन रिकवर होने में अभी समय लगेगा।

आईसीयू से सामान्य वार्ड में
सयाली के पिता प्रकाश राणे ने बताया कि दो दिन पहले उसे आईसीयू से सामान्य वार्ड में ले जाया गया। उन्होंने कहा कि वह पूरी तरह से अभी होश में नहीं है और मुश्किल से अपनी आँखें खोलती हैं। लेकिन उन्हें ख़ुशी कि अब उसके जीवन को कोई खतरा नहीं है।

मिल रही है आर्थिक मदद
ऑटोरिक्शा चला कर अपने परिवार का पेट पालने वाले प्रकाश राणे आगे कहते है कि सयाली को नली के द्वारा भोजन के रूप में लिक्विड दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सयाली के अस्पताल के खर्चों को वहन करने के लिए सिटीजन ऑफ़ पवई (सीओपी) नामकी संस्था आगे आई है। यह संस्था ने भी तक 25 हजार रुपए दिए हैं और आगे जरूरत पड़ने पर और भी आर्थिक मदद करने का आश्वासन दिया है।

क्या था मामला?
घटना 31 दिसंबर की है, सयाली राणे अपने कोचिंग क्लास से घर लौट रही थी तभी पीछे से आती एक तेज रफ्तार कार ने उसे पीछे से टक्कर मार दी। यह टक्कर इतनी तेज थी कि सयाली उछल कर सामने के इलेक्ट्रिक पोल से टकरा गयी। इसके बाद उसे होली स्पिरिट हॉस्पिटल में दाखिल कराया गया जहां डॉक्टरों ने उसके कोमा में चले जाने की पुष्टि की।

पढ़ें: विडियो: जोगेश्वरी में तेज रफ़्तार कार ने लड़की को उड़ाया

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें