Advertisement

मंत्रालय में दो शिफ्ट में कराया जाएगा काम, कोरोना के मद्देनजर लिया गया निर्णय

मंत्रालय में बड़ी संख्या में कर्मचारियों के संक्रमित होने के बाद अब कर्मचारियों से दो शिफ्ट में काम कराने का निर्णय लिया गया है।

मंत्रालय में दो शिफ्ट में कराया जाएगा काम, कोरोना के मद्देनजर लिया गया निर्णय
SHARES

कोरोना (Covid 19) के बढ़ते प्रभाव और मंत्रालय (mantralay) में बड़ी संख्या में कर्मचारी और अधिकारी कोरोना वायरस (corona virus) से संक्रमित पाए जाने के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (uddhav thackeray) ने मुख्य सचिव को अहम निर्देश दिए हैं। जिनमें मंत्रालय में दो शिफ्ट में काम करने के नियोजन की तैयारी करने, जिन विभागों में वर्क फ्रॉम होम (work from home) से प्रभावी काम हो सकता है, उन विभागों के कर्मचारियों से वर्क फ्रॉम होम कराने, मंत्रालय के कर्मचारियों को वैक्सीनेशन में प्राथमिकता देने, मंत्रालय आने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों की प्रवेश द्वार पर मेडिकल जांच करने और मंत्रालय में बाहर से आने वाले लोगों की भीड़ कम करने का निर्देश शामिल है। मुख्यमंत्री ने यह निर्देश राजपत्रित अधिकारी संघ के प्रतिनिधि मंडल से चर्चा करते हुए दिए हैं।

मंत्रालय में बड़ी संख्या में कर्मचारियों के संक्रमित होने के बाद अब कर्मचारियों से दो शिफ्ट में काम कराने का निर्णय लिया गया है। इस बाबत मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राजपत्रित अधिकारी संघ के साथ बैठक हुई, जिसमें कई मुद्दों पर निर्णय लिए गए। इस बैठक में कर्मचारियों द्वारा दो शिफ्ट में काम करने के अलावा, चुनिंदा विभागों के कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की सुविधा देने, कर्मचारियों को वैक्सिनेशन में प्राथमिकता देने, मंत्रालय आने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों की प्रवेश द्वार पर मेडिकल जांच करने और मंत्रालय में बाहर से आने वाले लोगों की भीड़ कम करने का निर्देश जैसे अन्य मुद्दे शामिल हैं।

बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि, काम करने के लिए कुछ अलग तरीके पर काम करना होगा ताकि कोरोना वायरस से बचा जा सके। उन्होंने नीति आयोग से 10 से 5 बजे वाली काम की मानसिकता को बदलने की भी मांग की।

सूत्रों के मुताबिक, 10 से 5 की जगह अब 9 से 4 और 11 से 5 बजे की शिफ्ट में काम कराया जा सकता है।

बता दें कि, पिछले 2 दिनों में मंत्रालय के करीब 75 कर्मचारी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। मंत्रालय में मंत्री, अधिकारियों को मिला कर करीब 5000 कर्मचारी काम करते हैं। पिछले साल भी कई कर्मचारी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें