metro-3 : 13 स्टेशनों के खुदाई का काम हुआ पूरा

मेट्रो-3 स्टेशन में कुल 26 स्टेशन हैं, जिसके लगभग 85 फीसदी तक काम पूरे हो चुके हैं। मेट्रो-3 पूर्णतया भूमिगत मेट्रो रेल सेवा है।

SHARE


अभी दो दिन पहले ही खबर आई थी कि मेट्रो-3 (कुलाबा-बांद्रा-सीप्ज) परियोजना में  मेट्रो के 4 स्टेशनों की खुदाई लगभग 100 फीसदी पूरी हो चुकी है। अब खबर है कि मई महीने तक मेट्रो-3 के लगभग 13 स्टेशनों के खुदाई का काम पूरा हो जाएगा। मेट्रो-3 स्टेशन में कुल 26 स्टेशन हैं, जिसके लगभग 85 फीसदी तक काम पूरे हो चुके हैं। मेट्रो-3 पूर्णतया भूमिगत मेट्रो रेल सेवा है।

मेट्रो-3 का काम समय से पूरा हो इसीलिए कार्य की गति को तेज किया गया है। बताया जाता है कि स्टेशनों की खुदाई का काम युद्धस्तर पर जारी है, जिसके 3 से 6 महीनों में पूरा होने की संभावना है।

सूत्रों के अनुसार सांताक्रूज मेट्रो स्टेशन का काम 93 फीसदी तक तो वर्ली, दादर, शीतलादेवी, धारावी, बांद्रा-कुर्ला संकुल जैसे स्टेशनों का काम 80 फीसदी तक पूरा हो गया है। मेट्रो 3 के लिए ग्राउंड ब्रेकिंग की शुरुआत 2016 के अंत में शुरू हुई। उसके 2 साल बाद खुदाई के बाद काम में तेजी  लाइ गयी।

विभिन्न स्टेशनों के छत का काम, दीवारों का, फर्श का सहित अन्य काम तेजी से हो रहे हैं। कफ परेड स्टेशन की छत का काम भी पूरा हो चुका है। MIDC, सिद्धिविनायक मंदिर वाले स्टेशन का बेस स्लैब पूरा हो गया है।   

इन स्टेशनों का काम हुआ है पूरा
जिन स्टेशनों के खुदाई का काम पूरा हो चुके हैं उनमें कफ परेड, विधान भवन, चर्चगेट, हुतात्मा चौक, CSMT, विज्ञान संग्रहालय, सिद्धिविनायक, MIDC, मरोल नाका, सहार रोड, सीएसएमआईए-आंतरदेशीय, सीएसएमआईए-आंतरराष्ट्रीय विमानतल और सीप्ज जैसे स्टेशन शामिल हैं।

पढ़ें: Metro 3 : चार स्टेशनों की खुदाई का काम 100 फीसदी हुआ पूरा

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें