आखिर कब पूरा होता मिठी नदीं का विकास

 Mumbai
आखिर कब पूरा होता मिठी नदीं का विकास

26 जुलाई की बारिश के बाद भी मिठी नदी का विकास आज भी रुका हुआ है। दो बार की डेडलाईन मिस होने के कारण इस कार्य को अप्रेल 2017 में तक पूरा करना था। बावजूद इसके अभी तक इस नदी का कार्य पूरा नहीं हुआ है। हालांकी अभी तक मिठी नदीं के विकास के लिए लगभग 1100 करोड़ रुपये खर्च किए जा चुके है। बावजूद इसके आज भी ये नदी नाला के रुप में ही जानी जाती है।

मिठी नदी की लंबाई 16.8 किलोमीटर है। मीठी नदी का कुछ हिस्सा बीएमसी के पास तो वहीं कुछ हिस्सा एमएमआरडीए के अंदर आता है। मिठी नदी में आई बाढ़ के बाद राज्य सरकार ने मिठी नदी विकास प्रधिकरण की स्थापना की थी। मिठी नदीं की साफ सफाई का कार्य बीएमसी और एमएमआरडीए के जिम्मे है। बावजूद इसके केंद्र सरकार ने भी इस प्रोजेक्ट के लिए आर्थिक सहायता राशि दी है। मिठी नदी के पूरे कार्य के लिए 1239 करोड़ रुपये खर्च होने की आशंका थी। साथ ही इस प्रोजेक्ट को दिसंबर 2012 तक पूरा होना था। लेकिन बाद इसे अप्रैल 2017 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया था। बावजूद इसेक अभी तक इसका कार्य पूरा नही किया गया।

तो वही जल विभाग के प्रमुख अभियंता और संचालक लक्ष्मण वटकर का कहना है की मिठी नदी का कार्य 95 फिसदी तक पूरा हो गया है। साथ ही अभी तक बीएमसी ने इस प्रोजेक्ट पर 625 करोड़ रुपये खर्च किए है। तो वही इस कार्य के लिए एमएमआरडीए की ओर से 419 करोड़ रुपये खर्च किये जा चुके है। जहां एक ओर बीएमसी दावा कर रही है की मिठी नदीं का कार्य 95 फिसदी तक पूरा हो गया है तो वही दूसरी तरफ मिठी नदी के आसपास अभी तक गंदगी का अंबार लगा हुआ है। जिसे स्थानिय लोगों को कापी तकलीफो का सामना करना पड़ रहा है।

Loading Comments