सनबर्न फेस्टिवल : कुछ शर्तों के साथ बॉम्बे हाईकोर्ट ने दी मंजूरी

अभी कुछ दिन पहले ही इस कार्यक्रम को लेकर काफी विरोध हुआ था जिसके खिलाफ याचिका दाखिल की गयी थी।

SHARE

बॉम्बे हाईकोर्ट ने पुणे में होने वाले कार्यक्रम सनबर्न के विरोध में दाखिल याचिका को खारिज कर इस फेस्टिवल को कुछ शर्तों के साथ मंजूरी दे दी है। आयोजकों ने कोर्ट को फेस्टिवल में शराब न देने और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम होने का भरोसा दिया, जिसके बाद कोर्ट ने यह मंजूरी दी। आपको बता दें कि अभी कुछ दिन पहले ही इस कार्यक्रम को लेकर काफी विरोध हुआ था जिसके खिलाफ याचिका दाखिल की गयी थी।

आयोजकों ने क्या कहा?

सनबर्न कार्यक्रम को लेकर विरोध जताया गया था कि इस कार्यक्रम में नाबालिक बच्चों को भी शराब परोसी जाती है। लेकिन आयोजको ने कोर्ट को भरोसा दिया कि इस कार्यक्रम में हर तरह की शराब पर प्रतिबंध रहेगा और किसी भी प्रकार का ध्वनि प्रदूषण भी नहीं होगा। यही नहीं सुरक्षा को लेकर यह कहा गया कि कार्यक्रम स्थल पर 150 सीसीटीवी और 300 बाउंसर्स तैनात किये जाएंगे। साथ ही पुलिस भी सादे वेश में तैनात रहेगी जो किसी भी संभावित खतरे से निपटेंगे।


यह भी पढ़ें : दाऊदी बोहरा समुदाय के उत्तराधिकारी कौन? फक्रुद्दीन के जवाब पर हाई कोर्ट में सुनवाई शुरु


पुणे में सनबर्न का आयोजन 28 दिसंबर से 1 जनवरी तक किया जाएगा। इस कार्यक्रम में लगभग 3 लाख लोगों के आने की संभावना व्यक्त की जा रही है।

क्या है सनबर्न?

सनबर्न एक इंटरनेशनल म्यूजिकल फेस्टिवल है। इस फेस्टिवल में देश विदेश के कलाकार अपनी कला पेश करते हैं। अकसर नए साल के स्वागत में इसका आयोजन किया जाता हैं। यहां खाने पीने का सुविधा उपलब्ध करना अनिवार्य होता है।


यह भी पढ़ें : क्लिनिक में चलता था जिस्फरोशी का खेल, रिहायशी इलाके में था क्लिनिक


क्यों हो रहा है विरोध

इस फेस्टिवल में लाखो युवाओं की भीड़ जुटती है जिसमें कई सारे नाबालिग बच्चे भी होते हैं। बताया जाता है कि इस फेस्टिवल की आड़ में ड्रग और शराब का जम कर सेवन किया जाता है।









संबंधित विषय
ताजा ख़बरें