Advertisement

BMC ने किया इतिहास का सबसे बड़ा TDR घोटाला- कांग्रेस नेता रवि राजा

टीडीआर घोटाले को लेकर मुंबई कांग्रेस ने लोकायुक्त, नगर आयुक्त-प्रशासक, केंद्रीय सतर्कता समिति को दिया पत्र

BMC ने किया इतिहास का सबसे बड़ा TDR घोटाला- कांग्रेस नेता रवि राजा
SHARES

मुंबई कांग्रेस द्वारा गुरुवार को एक गंभीर आरोप लगाया गया कि मुंबई नगर निगम (BMC) ने  प्रभावित पुनर्वास व्यक्ति परियोजना के लिए स्वीकृत विभिन्न परियोजनाओं में टीडीआर, प्रीमियम और क्रेडिट नोट के संबंध में संबंधित डेवलपर्स को लगभग 8,000-9,000 करोड़ रुपये का लाभ दिया है। मुंबई नगर निगम में कांग्रेस पार्टी के कार्यालय में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में, BMC मे पूर्व विपक्षी नेता रवि राजा ने निगम पर परियोजना से प्रभावित पुनर्वास परियोजना में डेवलपर्स को लाभ पहुंचाने के लिए कदम उठाने का आरोप लगाया।

8 से 9 हजार करोड़ रुपये का फायदा देने का घोटाला

कांग्रेस ने आरोप लगाया की  डेवलपर्स को लगभग 8,000-9,000 करोड़ रुपये का फायदा देने का यह मुंबई नगर निगम के इतिहास का सबसे बड़ा घोटाला है। इस मौके पर मुंबई कांग्रेस की ओर से कोषाध्यक्ष भूषण पाटिल, सह कोषाध्यक्ष अतुल बर्वे, कांग्रेस लीगल सेल के तुषार कदम मौजूद थे।

पूर्व नगर सेवक राजा ने यह भी उल्लेख किया कि मुंबई नगर निगम की इस परियोजना के कारण मुंबईवासियों के नुकसान के संबंध में मुंबई कांग्रेस की ओर से मुंबई नगर आयुक्त-प्रशासक इकबाल सिंह चहल, लोकायुक्त, केंद्रीय सतर्कता समिति को एक पत्र भेजा गया है।

कहा किया घोटाला

  • 1,056.75करोड़ रुपये की लागत से भांडुप पश्चिम में न्यू वर्ल्ड लैंडमार्क एलएलपी विकास कार्य  का फायदा होगा ऐसा आरोप करते हुए वहां 1,903 घर बनाए जाएंगे। इसके लिए डेवलपर को 39,000 वर्ग फुट की दर से पैसा और टीडीआर, क्रेडिट नोट दिया जाएगा।
  • मुलुंड पूर्व के स्वास कन्स्ट्रक्सन को  इस योजना से 4114 करोड़ रुपये का फायदा होने का आरोप कांग्रेस पार्टी की ओर से लगाया गया है।  इस योजना में 7,439 घर बनाए जाएंगे।  प्रत्येक घर के पीछे डेवलपर को 38,000 रुपये प्रति वर्ग फुट दिया जाएगा। इसके साथ ही  टीडीआर, क्रेडिट नोट भी जारी किए जाएंगे।
  • चांदिवली में टाउन सर्वे नं.11ए/5 पर डेवलपर को 2,123.81 करोड़ रुपये का लाभ मिलेगा।
  • माहिम के भूखंड क्रमांक 1074  नगर रचना योजना 4 मे  क्लासिक प्रमोटर्स एंड बिल्डर प्रा. की ओर से पुनर्वास योजना में 3,317 वर्ग मीटर के क्षेत्रफल वाले 529 घर शामिल हैं।आरोप है कि अगर घर की सभी कीमतों और क्रेडिट नोट, टीडीआर, जमीन की कीमत आदि की गणना की जाए तो डेवलपर को 680.91 करोड़ रुपये का फायदा होगा।
  • वर्ली में  529 घरों के निर्माण के लिए क्लासिक प्रमोटर और बिल्डर को 617.88 करोड़ दिया जाएगा।  साथ ही डीबी रियल्टी को चांदीवली परियोजना के लिए 4,000 घर बनाने का ठेका दिया गया है।  जिसके लिए प्रति स्क्वॉयर फूट 35  हजार रुपये, टीडीआर, क्रेडिट नोट दिया जाएगा।  

समय आया तो कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे

रवि राजा ने कहा की "बीएमसी विकासकर्ताओं के हित में निर्णय लेते हुए निगम के राजस्व और खजाने को खाली करने का काम कर रहा है, रेडी रेकनर के मुताबिक इस प्रोजेक्ट में मकान बनाने की सूरत में नगर पालिका को नुकसान उठाना पड़ रहा है, इस संबंध में रवि राजा ने यह भी स्पष्ट किया कि समय आया तो हम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे" 

यह भी पढ़ेकोविड-19 के कारण अपने परिजनों को खोने वाले 11 बच्चों को 5 लाख रुपये की मदद

Read this story in English
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें