मध्य रेलवे शुरू किया 'नो बिल नो पेमेंट' अभियान

स्टॉल धारकों को भी चेतावनी दी गयी थी कि बिना बिल दिए कोई भी सामान ग्राहकों को न दिए जाएं। अब यात्रियों को जागरूक करने के लिए मध्य रेलवे हर स्टॉल के बाहर 'नो बिल नो पेमेंट' का बोर्ड भी लगा रही है।

SHARE

मध्य रेलवे ने यात्रियों से अपील की है कि स्टेशन पर स्थित स्टॉल से कोई भी सामान खरीदने से पहले वे  बिल मांगे उसके बाद पैसे चुकाएं। इसके लिए रेलवे ने 'नो बिल नो पेमेंट' के नाम से एक अभियान भी चलाया है। यही नहीं स्टॉल धारकों को भी चेतावनी दी गयी थी कि बिना बिल दिए कोई भी सामान ग्राहकों को न दिए जाएं। अब यात्रियों को जागरूक करने के लिए मध्य रेलवे हर स्टॉल के बाहर 'नो बिल नो पेमेंट' का बोर्ड भी लगा रही है।


पढ़ें: अब रेलवे प्लेटफॉर्म पर सामान बेचेंगे वैध फेरीवाले


वसूलते हैं मनमाना पैसा 
रेलवे स्टेशनों पर काफी भीड़ जुटती है। भूखे प्यासे लोग यहां खाने पीने के लिए कईखाद्य वस्तुएं खरीदते हैं. इसी का फायदा उठा कर स्टॉल वाले ग्राहकों से मनमाना पैसा वसूलते हैं। कई शिकायतें मिलने के बाद रेलवे ने आखिर यह कदम उठाया।


पढ़ें: जोगेश्वेरी स्टेशन पर बनेगा टर्मिनस


लंबी दुरी की ट्रेनों में ही नियम लागू
यही नहीं कई बार ग्राहकों और स्टॉल वालों के बीच कहासुनी भी हो जाया करती थी। जिसके बाद जीआरपी को बीच बचाव करना पड़ता था। इन्हीं सब कारणों को देखते हुए मध्य रेलवे ने ग्राहकों से बिल मांगनें की अपील की ताकि स्टॉल धारक मनमाना पैसा न वसूल सकें। ऐसा नहीं है कि यह केवल मुंबई के ही स्टेशनों पर यह नियम लागू होगा। यह लंबी दुरी की गाड़ियों जैसे मेल, एक्सप्रेस जैसे ट्रेनों में भी सामान बेचने वाले अधिकृत लोगों पर यह नियम लागू होगा।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें