मुंबई में ऑक्सीजन की फैक्ट्री


  • मुंबई में ऑक्सीजन की फैक्ट्री
  • मुंबई में ऑक्सीजन की फैक्ट्री
  • मुंबई में ऑक्सीजन की फैक्ट्री
  • मुंबई में ऑक्सीजन की फैक्ट्री
  • मुंबई में ऑक्सीजन की फैक्ट्री
SHARE

मुंबई के कांदिवली स्थित समता नगर पुलिस स्टेशन परिसर में ऑक्सिजन फैक्ट्री तैयार की गई है। इस फैक्ट्री के लिए खत्री परिवार के दो सदस्य हमेशा कार्यरत रहते है। 2007 में तैयार की गई यह फैक्ट्री लगभग 1.5 एकड़ इलाके में फैली है। जिसका कई बार विदेश में रहनेवाले लोगों ने भी अनुभव किया है।इस फैक्ट्री को तैयार किया है पुलिस स्टेशन परिसर के अंदर।


इस फैक्ट्री को क्यों बनाया गया है और इसकी क्या जरुरत है यह जानने के लिए आपको पुलिस स्टेशन परिसर के अंदर जाना होगा। दरअसल समता नगर पुलिस स्टेशन,  वेस्टर्न एक्सप्रेस महामार्ग के पास ही होने के कारण वायुप्रदुषण का शिकार होता था। तो वही दूसरी तरफ इस पुलिस स्टेशन के पिछले भाग को डंपिंग ग्राउंड की तरह इस्तेमाल किया जाता था, जिससे पुलिस स्टेशन में तैनात सिपाहियों को काफी तकलीफ होती थी। 

ठाकूर विलेज के वॉइसरॉय पार्क एएलएम के अध्यक्ष अफजल खत्री एक दिन समता नगर पुलिस स्टेशन किसी परमिशन के कार्य से गए , जहां उन्होने इस हालात को देखा। जिसके बाद उन्होने तात्कालिन पुलिस निरिक्षक विनायक मुले से इजाजत लेकर इस डंपिंग ग्राउंड को एक जंगल के रुप में बदल दिया। जिसके बाद पुलिस स्टेशर के पीछे का पूरा हिस्सा हरा भरा हो गया। साथ ही पेड़ों को कारण परिसर में ऑक्सीजन की मात्रा भी बढ़ गई।


समता नगर डंपिंग ग्राउंड को फिर से हरा भरा करने का कार्य आसान नहीं था। इसमे कई लोगों की मदद लगी।
1) विद्यार्थियों का श्रमदान
2) बीएमसी की ओर से अरोबिक कॉमपोस्ट पिट
3) एक अज्ञात व्यक्ति की ओर से एक ट्रक लाल मिट्टी
4) एक अज्ञात व्यक्ति की ओर से 1000 लाल इटा
5) मुंबई पुलिस और बीएमस की ओर से दी जानेवाली इजाजत
जिसकी जानकारी अफजल खत्री ने मुंबई लाइव को दी।


इस ऑक्सीजन फैक्ट्री की शोभा बढ़ाने के लिए 35 अलग अलग प्रकार के पक्षी, 2000 से भी ज्यादा अलग अलग प्रकार के झाड़ , 36 प्रकार के मकड़ी भी यहां पर रखे गए है। इस ऑक्सीजन फैक्ट्री को देखने के लिए लोग देश विदेश से आते है। साथ ही इस ऑक्सीजन फैक्ट्री का वो अभ्यास भी करते है। 24 साल के रुपेश गावड़े ने बायो डिवर्सिटी पर अभ्यास किया।


कहा जाता है की हर सफल आदमी के पीछे एक औरत का हाथ होता है। अफजल खत्री की पत्नी नुसरत खत्री पिछलें कई सालों से इस काम में अपने पति का हाथ बटाते आ रही है। खत्री परिवार 2001 में अमेरिका के न्यूयॉर्क में अपना व्यापार बंद कर भारत लौटा। खत्री परिवार ने पर्यावरण के क्षेत्र में कार्य करने के लिए अपना व्यापार बंद किया और देश में पर्यावरण की सेवा करने के लिए वह भारत लौटे। और तबसे वह इस फिल्ड में कार्य कर रहे है।


(मुंबई लाइव ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें)

नीचे कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे

संबंधित विषय