Advertisement

मुंबई अन्य शहरों की तुलना में शराब की होम डिलीवरी आर्डर देने में सबसे आगे

शहरों में होम डिलीवरी का विकल्प हमेशा अधिक लोकप्रिय रहा है। अधिकारियों के अनुसार, 15 मई से रखे गए 3,31,655 ऑर्डर का एक बड़ा हिस्सा शहरी इलाकों से आया है।

मुंबई अन्य शहरों की तुलना में शराब की होम डिलीवरी आर्डर देने में सबसे आगे
SHARES

राज्य की आबकारी विभाग (excise department) के अनुसार, राज्य भर में 30 लाख शराब की होम डिलीवरी ऑर्डर (liquor home delivery order) मिले हैं, जिसमें से 15.6 लाख ऑर्डर यानी 50 फीसदी से भी अधिक अकेले मुंबई (mumbai) शहर से आर्डर किए गए है। होम डिलीवरी शुरू करने का आदेश जारी हुआ था, उसके बाद से राजस्व में हो रही गिरावट में सुधार आना शुरू हुआ।

इस तथ्य सेे स्पष्ट है कि मुंबई शहर अन्य शहरों की तुलना में शराब की होम डिलीवरी कराने में सबसे आगे है। लॉकडाउन (lockdown) के कारण अप्रैल तक शराब की बिक्री की अनुमति नहीं थी, लेकिन 4 मई से, राज्य सरकार ने पहले गैर-हॉटस्पॉट क्षेत्रों (mumbai monsoon zone) में शराब की खुदरा बिक्री की अनुमति दी थी और बाद में रेेड ज़ोन (red zone) में भी इसकी अनुमति दे दी। इसके बाद शराब की दुकानों पर भीड़ से बचने के लिए होम डिलीवरी की भी अनुमति दी गई। मुंबई और नागपुर में, अब तक केवल होम डिलीवरी की अनुमति दी गई है और काउंटर बिक्री पर प्रतिबंध लगाया गया है।

आबकारी विभाग द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, शराब बिक्री की अनुमति मिलने के बाद अगले दिन यानी मुंबई में 23 मई को शराब की होम डिलीवरी के 3,062 ऑर्डर किए गए हैं। इसके बाद इसकी संख्या 24 मई को बढ़कर 18,964 हो गई और सोमवार 25 मई को बढ़कर 24,615 हो गई।  सोमवार शाम तक, इनमें से 424 या लाइसेंस प्राप्त दुकानों ने यानी 36 प्रतिशत अनुमति प्राप्त करने के बाद होम डिलीवरी शुरू कर दी थी। शहरों में होम डिलीवरी का विकल्प हमेशा अधिक लोकप्रिय रहा है। अधिकारियों के अनुसार, 15 मई से रखे गए 3,31,655 ऑर्डर का एक बड़ा हिस्सा शहरी इलाकों से आया है।

मुंबई के निवासी शराब को ऑनलाइन पंजीकरण  के माध्यम से भी प्राप्त कर सकते हैं। पंजीकरण करने के बाद, नागरिकों को उसी के लिए एक टोकन मिलेगा। शराब की दुकानों को खोलने के सरकार के पिछले आदेश में शराब की दुकानों के सामने भारी भीड़ देखी गई, जिससे खुलेआम सोशल डिस्टेंस(social distance) की धज्जियां उड़ने लगी। इसे देखते हुए सरकार ने शराब बिक्री के आदेश वापस ले लिए।  अब पूरे महाराष्ट्र में शराब की बिक्री सुनिश्चित करने के लिए प्रभावी प्रबंधन के लिए शराब खरीदने की प्रक्रिया को बेहतर बनाया गया है।

संबंधित विषय
Advertisement