दादर की ये सोसायटी नहीं पैदा करती है एक भी कचरा !

 Dadar
दादर की ये सोसायटी नहीं पैदा करती है एक भी कचरा !

मुंबई में ऐसी कई सोसायटियां जो कचरे का इस्तेमाल कर खाद बनाती है। मुंबई के दादर में सिल्वर बीच सोसाइटी भी उन सोसायटियों में से एक है। ये सोसायटी एक भी कचरा प्रोड्युस नहीं करती है। उन्होंने एक सफारी कार्यकर्ता को किराए पर रखा है जो सूखा और गीले कचरे को अलग करता है।

इस सोसायटी में 37 फ्लैट है और 200 से भी ज्यादा लोग रहते है। रोजाना इस सोसायटी में 18 से 20 किलोग्राम सूखा कचरा उत्पन्न होता है। जिसमें से गीले कचरे को कंपोस्टिंग गड्ढे में रखा जाता है और बाद में खाद के रुप में इसका इस्तेमाल किया जाता है।

शिवाजी पार्क के एएलएम के तसनिम शुलकुल से इस सोसायटी के लोगों को यह कार्य करने की प्रेरणा मिली। जो पिछले कई सालों से इस क्षेत्र में कार्यरत है।

स्थानिय निवासी सोनाली चिटले का कहना है की इस समाज के हर तबके को इसका पालन करना चाहिए। यदि आप दादर के समुद्र तट को देखते हैं, तो समुंद्र के किनारे कितना कचड़ा पड़ा रहता है और इसका मुख्य कारण है मिठी नदी से यहां बहकर आनेवाला कचरा। लोगों को आगे आकर इस कचरे की समस्या को खत्म करना चाहिए।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे)

Loading Comments