Advertisement

दहिसर के कोविड आयसीयू वॉर्ड में लगी आग, नर्सों की सतर्कता आई काम

कोरोना पीड़ितों के इलाज के लिए दहिसर कंधारपाड़ा में 100 बेड की गहन देखभाल इकाई है। केंद्र में एक मरीज के लिए एक एचएफएनसी (हाई फ्लो नोजल कैनुला) संयंत्र गुरुवार दोपहर 2 बजे स्थापित किया गया।

दहिसर के कोविड आयसीयू वॉर्ड में लगी आग, नर्सों की सतर्कता आई काम
SHARES

दहिसर (Dahisar) के कंधारपाड़ा क्षेत्र में कोविड आईसीयू सेंटर में एक मरीज का इलाज करते समय, रोगी के बगल में चिकित्सा उपकरण में शॉर्ट सर्किट के कारण आग (Fire) लग गई। नर्सों की सतर्कता के चलते एक बहुत बड़ा हादसा होते होते टल गया।

कोरोना पीड़ितों के इलाज के लिए दहिसर कंधारपाड़ा में 100 बेड की गहन देखभाल इकाई है। केंद्र में एक मरीज के लिए एक एचएफएनसी (हाई फ्लो नोजल कैनुला) संयंत्र गुरुवार दोपहर 2 बजे स्थापित किया गया। अचानक शॉर्ट सर्किट के कारण आग लग गई। उस समय मरीज के पास मौजूद नर्स अनुपमा तिवारी ने मरीज के बिस्तर से उपकरण को हटा दिया। प्लांट को बिजली की आपूर्ति काट दी गई। आसपास की अन्य नर्सों, चिकित्सा अधिकारी डॉ. रवि, वार्डबॉय, जतिन और अन्य कर्मचारी पास के आग बुझाने वाले यंत्र को ले आए और जलते हुए मेडिकल प्लांट को एक पल में बुझा दिया। परिश्रम के साथ आग को बुझाने से एक बड़ा हादसा टल गया।

यह भी पढ़ें: ग्रांट रोड स्टेशन में यात्रियों के लिए खुला नया FOB

इन नर्सों, डॉक्टर व मेडिकल स्टाफ की राज्य के पर्यावरण, पर्यटन मंत्री तथा मुंबई उपनगर जिला के पालकमंत्री आदित्य ठाकरे, मुंबई की महापौर किशोरी पेडणेकर, महानगरपालिका आयुक्त इकबाल सिंह चहल समेत अन्य लोगों ने तारीफ की है।

यह भी पढ़ें: ठाणे में टैक्स भरना हुआ काफी आसान, 'मोबाइल वैन' के जरिये घर के बाहर भरिये टैक्स

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय