विरोधी पक्ष नेता के बिना सूना-सूना लागे बीएमसी

 BMC
विरोधी पक्ष नेता के बिना सूना-सूना लागे बीएमसी

मुंबई मनपा के विरोधी पक्ष नेता का चुनाव अभी नहीं हुआ है। जबकि अब तो बीजेपी का बजट भी पेश हो गया है। इस बारे में कांग्रेस नगरसेवक रविराजा ने बीएमसी की दूसरी बड़ी पार्टी बीजेपी से ही विपक्ष का नेता होने की मांग की।

रविराजा ने सभागृह के कामकाज को बिना विपक्ष के होने से अवैध बताते हुए इसे लोकतन्त्र का हनन बताया। मनपा के कानून के मुताबिक महापौर, उपमहापौर सहित विरोधी पक्ष नेता और सभागृह नेता का चुनाव किया जाता है, लेकिन इनमे से विपक्ष नेता को छोड़ कर अन्य सभी पदों का चुनाव हो गया। इसी बीच बजट भी पास हो गया। बजट में नियमानुसार पहला भाषण विरोधी पक्ष नेता का ही होता है लेकिन वह भी नहीं हुआ। रविराजा के अनुसार मनपा की दूसरी बड़ी पार्टी बीजेपी है और वह सत्ता से बाहर भी है इसीलिए विपक्ष में उसका नेता ही बैठना चाहिए।

रविराजा ने कहा कि बीजेपी के गुटनेता मनोज कोटक ही विरोधी पक्ष के नेता हो सकते हैं लेकिन हमें पता है कि बीजेपी विपक्ष में नहीं आएगी जबकि मुख्यमंत्री ने पारदर्शी काम की घोषणा की थी। जबकि रईस शेख ने भी महापौर को नियमानुसार विरोधीपक्ष नेता चुनने की मांग की। महापौर विश्वनाथ महाडेश्वर ने जल्द विरोधी पक्ष नेता को चुने जाने आश्वासन दिया।

Loading Comments