दोमुंहे सांप के साथ एक गिरफ्तार

 Byculla
दोमुंहे सांप के साथ एक गिरफ्तार

मुंबई पुलिस की प्रोपर्टी यूनिट के अधिकारियों ने दोमुंहा सांप (बोआ) के तस्करी के आरोप में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। इस व्यक्ति के पास 3 किलो वजनी और साढ़े चार फीट लंबे एक दोमुंहा सांप भी मिला है। इस दोमुंहे सांप (बोआ) की कीमत अंतर्राष्ट्रीय बाजार में 30 लाख रूपये बताई जाती है। पुलिस अधिकारियों ने दावा किया है कि यह हाल ही में पकड़े गये दोमुंहे सांपों में अब तक का सबसे बड़ा सांप है। इन विशेष प्रकार के साँप से जुड़े कई अंधविश्वासों की वजह से दोमुंह सांपों (बोआ) की तस्करी बढ़ रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मुंबई पुलिस की संपत्ति इकाई को सुचना मिली की सोमवार रात एक व्यक्ति भायखल में एक बोआ को बेचने के लिए आ रहा है। इसके बाद पुलिस ने जाल बिछाकर विदर्भ के एक निवासी नेविद शेख (36) को गिरफ्तार किया और उनके कब्जे से गहरे भूरे रंग के दोमुंहे सांप (बोआ) को जब्त किया। पुलिस के अनुसार, शेख एक रीयल एस्टेट एजेंट है और कारोबार में मंदी होने के कारण वह तस्करी के गोरखधंदे में शामिल हो गया।

मांग है अधिक

भारत के कुछ राज्यों सहित चीन में दोमुंहा सांप (बोआ) की खाल व हड्डियों से बने उत्पाद की मांग है। इस सांप का उपयोग एड्स व कैंसर जैसी बीमारियों तथा सेक्स पॉवर की दवाओं के निर्माण में होता है। इस सांप को जिंदा पकडऩे वाले शिकारी इसे ऊंची कीमत पर नेपाल में बेचते हैं, जहां से चीन के तस्कर इंडोनेशिया ले जाते हैं। इसकी खाल से नशीली व मिर्गी की दवाइयां बनाई जाती हैं। चीन के मार्केट में इसकी काफी अधिक मांग है।

खाल से बनाई जाती हैं दवाइयां

चीन, ताइवान, मलेशिया में बोआ का इस्तेमाल दवा बनाने के लिए किया जाता है। इससे नशा, ताकत एवं मिर्गी के लिए दवा बनाई जाती है।

जहरीला नहीं होता है बोआ

इस सांप को पकडऩा आसान है, क्योंकि ये जहरीले नहीं होते हैं। ये मोटे आकार के होते हैं। इस वजह से इसकी चाल सुस्त होती है। सर्दी से बचने के लिए ये चूहे के बिल में छुप जाते, गर्मी में निकलते ही शिकारी पकड़ लेते हैं।

मुंह की तरह बोआ की पूंछ

सुनहरे रंग व सुस्त रफ्तार वाले बोआ की पूंछ भी मुंह की तरह दिखने की वजह से इसे दोमुंहा सांप कहा जाता है। दक्षिण के राज्यों में मान्यता है कि दोमुंहे सांप यदि घर के आसपास दिख गए तो धन की प्राप्ति होगी।

Loading Comments