Coronavirus cases in Maharashtra: 192Mumbai: 56Islampur Sangli: 24Pune: 18Pimpri Chinchwad: 13Nagpur: 10Kalyan: 6Navi Mumbai: 6Thane: 5Yawatmal: 4Ahmednagar: 3Satara: 2Panvel: 2Ulhasnagar: 1Aurangabad: 1Ratnagiri: 1Vasai-Virar: 1Sindudurga: 1Kolhapur: 1Pune Gramin: 1Godiya: 1Palghar: 1Gujrath Citizen in Maharashtra: 1Total Deaths: 5Total Discharged: 28BMC Helpline Number:1916State Helpline Number:022-22694725

7 करोड़ का 'लव लेटर'

लकड़ावाला के नाम की इतनी दहशत थी कि कई सारे उगाही के मामलों में लिप्त होने के बाद भी किसी भी पुलिस स्टेशन में उसके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं कराया गया था.

7 करोड़ का 'लव लेटर'
SHARE

 

उगाही (extortion) के आरोप में गिरफ्तार हुआ गैंगस्टर एजाज लकड़ावाला (Ejaz Lakdawala), तारिक परवीन (tariq parveen) और सलीम महाराज पर फिर से केस दर्ज किया गया है। मुंबई के एक फेमस उद्योगपति द्वारा शिकायत करने के बाद मुंबई की पायधुनी पुलिस (Pydhonie Police Station) ने यह केस दर्ज किया है। शिकायत के मुताबिक़ एजाज लकड़ावाला ने उद्योगपति से साढ़े 7 करोड़ रुपए फिरौती की मांग की थी। कुख्यात गैंगस्टर एजाज लकड़ावाला को मुंबई पुलिस (mumbai police) ने बिहार (bihar) के पटना (patna) से  गिरफ्तार किया था। बाद में पुलिस  पूछताछ में तारिक परवीन और सलीम महाराज के भी नाम सामने आने के बाद उन्हें भी गिरफ्तार किया गया।  

इन तीनों आरोपियों के खिलाफ कई सारे खुलासे हो रहे हैं, साथ ही जैसे-जैसे पूछताछ आगे बढ़ रही है वैसे-वैसे एक के एक राज भी सामने आ रहे हैं।

पढ़ें : दाऊद इब्राहिम के सहयोगी एजाज लकड़ावाला को मुंबई पुलिस ने बिहार से किया गिरफ्तार

सूत्रों के अनुसार पायधुनी पुलिस में जो शिकायत दर्ज कराई गयी है उसके मुताबिक़ एजाज लकड़ावाला उगाही के लिए एक पत्र लिखा करता था, जिसे वह कोड वर्ड (code word) में 'लव लेटर' (love letter) कहता था। यह 'लव लेटर' उसने मुंबई के एक उद्योगपति को भी लिखा था। इस 'लव लेटर' के जरिये उद्योगपति से साढ़े 7 करोड़ रूपये की मांग की गयी थी।

यही नहीं तारिक परवीन और सलीम महाराज की मदद करने के लिए एक मुंबई पुलिस के अधिकारी प्रवीण पडवल का भी नाम सामने आ रहा है। प्रवीण पडवल मुंबई पुलिस की ट्राफिक विभाग में अपर पुलिस आयुक्त हैं बताया जाता है कि पडवल ने इन तीनों की मदद की थी, पडवल पर इन दोनों आरोपियों के खिलाफ उगाही के दर्ज मामले में सबूत मिटाने का आरोप है। अब नाम सामने आने के बाद पडवल की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

लकड़ावाला के नाम की इतनी दहशत थी कि कई सारे उगाही के मामलों में लिप्त होने के बाद भी किसी भी पुलिस स्टेशन में उसके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं कराया गया था, लेकिन जब उसकी गिरफ्तार हुई तो उसके खिलाफ शिकायत दर्ज होना शुरू हो गई है।

पढ़ें : अंडरवर्ल्ड डॉन एजाज लकड़ावाला का सहयोगी महाराज उर्फ़ बटरफ्लाई हुआ गिरफ्तार

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें