क्या फिर से होगा 26/11?

शिवडी - शिवडी घासलेट बंदरगाह की इन लावारिस बोट्स में कौन रहता है? इसका जवाब किसी के पास नहीं है। कई वर्षों से इन लावारिस बोट्स में ये लोग ऐसे ही रहते आ रहे हैं लेकिन इनकी पहचान जानने की कोशिश आज तक किसी ने नहीं की है। यहां रह रहे संदिग्ध लोगों के बारे में स्थानीय मछुवारों का कहना है कि ये लोग बांग्लादेशी हैं। बोट्स के अलावा कई जहाज भी यहां लावारिस हालात में पड़े हैं। यहां पास ही में घासलेट बंदरगाह पुलिस चौकी भी है लेकिन इसे बीपीटी का क्षेत्राधिकार बताकर इससे अपना पल्ला झाड़ लेती है। यह मामला संदिग्ध होने के बावजूद जिस तरह बीपीटी और पुलिस लापरवाही बरत रही है वो आगे बड़ा खतरा भी साबित हो सकती है। इसलिए जरूरी है इस मामले को गंभीरता से लिया जाए और यहां रहने वाले लोगों की पहचान उजागर की जाए। वरना, कौन जाने फिर से 26/11 जैसा हादसा हो जाए।

Loading Comments