6 घंटे तक पूछताछ के बाद अर्जुन रामपाल को NCB वालों ने जाने दिया

अर्जुन सुबह 10 से साढ़े 11 बजे के बीच एनसीबी ऑफिस पहुंचे। और शाम को निकले। कहा जा रहा था कि अर्जुन रामपाल पर गिरफ्तारी की तलवार लटक सकती है।

6 घंटे तक पूछताछ के बाद अर्जुन रामपाल को NCB वालों ने जाने दिया
SHARES

बॉलीवुड अभिनेता अर्जुन रामपाल सुबह करीब 11.30 बजे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) कार्यालय पहुंचे। 6 घंटे की पूछताछ के बाद, NCB ने अर्जुन रामपाल को घर जाने की अनुमति दी। इससे पहले, NCB ने रामपाल और उसकी प्रेमिका गैब्रिएला डेमेट्रियस से पूछताछ की थी। इसके पहले गैब्रिएला और उसके भाई से NCB ने ड्रग मिलने के बाद पूछताछ की थी। इस मामले में अर्जुन रामपाल के नाम आने के बाद से अर्जुन को तलब किया गया था।

सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में ड्रग कनेक्शन सामने आने के बाद एनसीबी ने कई तस्करों को गिरफ्तार किया है। इस ड्रग कनेक्शन के मामले में अभी ही में के कॉमेडियन भारती और उनके पति हर्ष लिम्बाचिया को भी गिरफ्तार किया गया था। तो वहीं बाद में, अभिनेता अर्जुन रामपाल की प्रेमिका गैब्रिएला डेमेट्रियस और उनके भाई को गिरफ्तार किया गया था। इस कार्रवाई के बाद, रामपाल ने पहले से हुई पूछताछ में कहा था कि, ड्रग्स मामले से उनका कोई लेना-देना नहीं है। उसके बाद भी एनसीबी के टीम ने अर्जुन रामपाल के घर पर छापा मारा। साथ ही कुछ प्रतिबंधित गोलियां भी पाई गईं। हालांकि उस बारे में अर्जुन रामपाल ने कहा था कि, वे डॉक्टर की सलाह और प्रिस्क्रिप्शन के आधार पर ही इन गोलियों को ले रहे थे।

ड्रग्स मामले में बॉलीवुड एक्टर अर्जुन रामपाल से छह घंटे पूछताछ के बाद देर शाम वे एनसीबी के दफ्तर से न‍िकले। अर्जुन सुबह 10 से साढ़े 11 बजे के बीच एनसीबी ऑफिस पहुंचे। और शाम को निकले। कहा जा रहा था कि अर्जुन रामपाल पर गिरफ्तारी की तलवार लटक सकती है। दरअसल, एनसीबी ने दिल्ली के एक डॉक्टर का बयान लिया है जिसके बाद अर्जुन केस में फंस सकते हैं।

हालांकि, एनसीबी जांच में संबंधित डॉक्टर द्वारा दिए गए पर्चे को लेकर रामपाल के एक परिचित को दिए गए थे। उन्होंने एनसीबी को बताया कि उन्होंने इसकी जानकारी खुद डॉक्टरों को दी थी। सूत्र की मानें तो अर्जुन रामपाल के एक करीबी ने दिल्ली एक डॉक्टर को गुमराह करके बैक डेट में डॉक्टर से प्रिस्क्रिप्शन लिखवाए ताकि एनसीबी की जांच से बचा जा सके। 

इस मामले में डॉक्टर ने कहा- मामला अभी कोर्ट में है, इसलिए कोई भी जानकारी मैं आप से शेयर नहीं कर सकता। लेकिन जो भी जरूरी बातें हैं मैंने एनसीबी को बता दी है और मजिस्ट्रेट के सामने अपना बयान दे दिया है। मैं एनसीबी को सहयोग करूंगा।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें