मुरगन गैंग का पर्दाफाश, चढ़े पुलिस के हत्थे

 Dindoshi
मुरगन गैंग का पर्दाफाश, चढ़े पुलिस के हत्थे

मालाड पूर्व - दिंडोशी पुलिस ने बाबा मुरगन गैंग के मुखिया सहित उनके दो साथियों को लूट के आरोप में गिरफ्तार किया हैं। मिली जानकारी के मुताबिक बाबा मुरगन गैंग एक ऐसा गैंग हैं जो बड़े ही शातिराना तरीके से चोरी या लूट जैसी घटनाओं को अंजाम देते हैं और फिर पकडे जाने के बाद बाबा मुरगन जेल के अंदर बिना कुछ खाये पिए लगातार 115 दिन तक अनसन पर बैठने का रिकॉर्ड बना चुके हैं। बाबा मुरगन का पूरा नाम नारायण इशकी तेवर उर्फ़ मुरगन हैं। जो रायगढ़ का रहने वाला हैं और लूट व चोरी जैसे कई संगीन घटनाओं को अंजाम देने में काफी मशहूर हैं।
दुकान का मालिक उत्तम सिंह ने बताया कि बाबा मुरगन गैंग 21 जनवरी की रात उंसके मोबाइल की दुकान का शटर तोड़कर 6 लाख से भी ज्यादा के कीमत का मोबाइल फोन और इलेक्ट्रिक से जुडी हुई सामग्री चोरी कर फरार हो गया था। जिसकी शिकायत 22 मार्च को दिंडोशी पुलिस थाने में की थी। दिंडोशी पुलिस की टीम दुकान में लगे सीसीटीवी की मदत से जब आरोपियों की धरपकड़ करनी सुरु की तो सबसे पहले मुरगन गैंग का मुखिया नारायण इशकी तेवर उर्फ़ बाबा मुरगन गिरफ्त में आ गया।
दिंडोशी पुलिस थाने के जांच अधिकारी प्रशांत निशानदार ने बताया कि राणी सत्ती मार्ग पर स्थित मारुती टेलिकॉम नाम के एक मोबाइल की दुकान में हुई चोरी के आरोप में मुरगन सहित उसके दो और साथियों को गिरफ्तार कर 36 मोबाइल फ़ोन बरामद किया गया हैं।

पूछताछ के दौरान बाबा मुरगन अपने आपको अन्ना हजारे से भी बड़ा निर्जल अनसनकारी बाबा बताते हुए पुलिस को बताया कि मैं 115 दिन तक जेल के अंदर बिना कुछ खाये पिए अनसन पर बैठा हूं। उसके बाद दिंडोशी पुलिस थाने में भी अनसन पर बैठ गये थे, लेकिन कुछ देर बाद मोबाइल की दुकान में हुई लूट की वारदात की पूरी कहानी बता दिया।

Loading Comments