अंधविश्वास में पड़ कर गवाएं 12 लाख रूपये

गुरु मां ने अपने आप को साईं बाबा का भक्त बताते हुए सिद्धि प्राप्त होने का दावा किया। साथ ही गुरु मां ने परिवार को आश्वासन दिया कि वे अपनी 'शक्तियों' से घर की सारी परेशानी दूर कर देंगी।

SHARE

हम भले ही चंद्रमा में चंद्रयान भेज रहे हो लेकिन इस बढ़ते भारत में अभी भी अंधविश्वास कि जड़ें काफी गहरी हैं। और इसी अंधविश्वास ने आकर कई लोग अपने जीवनभर की गाढ़ी कमाई लूटा देते हैं। ताजा मामला मुंबई के एनएम जोशी मार्ग का है। जहां एक महिला ठग खुद को साईं बाबा के दैवीय शक्तियों से लैस बता कर एक परिवार वालों से  12 लाख रूपये लूट लिया। महिला ठग का नाम किरण दारुवाला (35)है, जो अपने आपको 'गुरु मां' कहलवाना पसंद करती थी।

क्या था मामला?
बताया जाता है कि साल 2016 में पीड़ित परिवार कई सालों से तरह-तरह की परेशानियों को झेल रहा था। घर के सदस्य नौकरी, पैसा, स्वास्थ्य आदि समस्याओं से ग्रसित थे। इन्हीं परेशानियों को देखते हुए घर के ही एक सदस्य को उसके मित्र ने गुरु मां के पास जा कर उनसे आशीर्वाद लेने की सलाह दी। उस मित्र ने दावा किया कि गुरु मां एक बहुत पहुंची हुई साईं बाबा की भक्त हैं और वे कई दैवीय शक्तियों से लैस हैं।

परेशान परिवार अपनी परेशानी दूर करने के लिए गुरु मां के पास पहुंचा और दर्शन किया। गुरु मां ने अपने आप को साईं बाबा का भक्त बताते हुए सिद्धि प्राप्त होने का दावा किया। साथ ही गुरु मां ने परिवार को आश्वासन दिया कि वे अपनी 'शक्तियों' से घर की सारी परेशानी दूर कर देंगी।

इसके बाद गुरु मां ने हवन-जाप करने के नाम पर इस परिवार से लगातार तीन साल तक यानी 2016 से लेकर 2019 तक छोटे बड़े अमाउंट के रूप में कुल 12 लाख 75 हजार 900 रूपये ऐंठे। जब पीड़ित परिवार अपनी कुछ भी फायदा नहीं होने की बात कहता तो गुरु मां कहतीं थीं कि 'परिवार वालों ने पिछले जन्म में बड़ा पाप किया था और उस पाप से बाहर आने में देरी होगी।'

गुरु मां द्वारा दिन प्रतिदिन पैसों की मांग बढ़ती देख कर परिवार वालों को शक हुआ और उन्होंने एनएम जोशी मार्ग पुलिस ने गुरु मां के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। हालांकि मामला धार्मिक होने के नाते पुलिस फूंक-फूंक कर आगे बढ़ रही है। अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

संबंधित विषय