क्रिकेट के नाम पर ठगी, 3 गिरफ्तार

क्रिकेट मैच में मौका दिलाने के नाम पर की लाखो की ठगी

  • क्रिकेट के नाम पर ठगी, 3 गिरफ्तार
SHARE

भारत में क्रिकेट को धर्म से कम नहीं समझा जाता है। यहां क्रिकेट दीवानगी है। लेकिन इसी दीवानगी का कुछ लोग फायदा भी उठाते हैं। एक मामले के अनुसार पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जिसने कुछ युवाओं को ईस्ट अफ्रीका प्रीमियर लीग में मौका दिलाने के नाम पर उनके साथ ठगी की थी। इस मामले में पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार किया है।

विजय बर्हाटे RN स्पोर्ट्स क्लब के संचालक हैं और इस क्लब के ऊपर आईपीएल की टीम सनराइजर्स हैदराबाद के लिए नए टैलेंटेड खिलाड़ी ढूंढ कर लाने की जिम्मेदारी थी। 2013 में क्ल्ब और हैदराबाद टीम के बीच यह करार हुआ लेकिन कुछ समय बाद किसी बात को लेकर यह करार रद्द हो गया।


लेकिन करार रद्द हो जाने के बाद भी इस कंपनी ने कई युवा खिलाड़ियों को मैच में मौका देने का लालच दिया और उनसे लाखो रूपये ऐंठे। यही नहीं इनकी तरफ से कई खिलाड़ियों को यह लालच भी दिलाया गया कि वे खिलाडियों को रणजी मैच, विदेशों में होने वाले 20-20 मैच में भी मौका दिलवाएंगे। इसके लिए विजय बर्हाटे और उसके सहयोगी ने लोगों से लगभग 63 लाख रूपये तक वसूले। इस दौरान ये सनराइजर्स के 'लोगो' और अन्य कागज पत्रों का भी दुरूपयोग करते रहे। जब कई साल तक युवाओं को खेलने का कहीं भी अवसर नहीं मिला तो उन्होंने आर. एन स्पोर्ट्स क्लब के पदाधिकारियों के खिलाफ चेंबूर पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी।

यही नहीं पुलिस ने जब इनसे पूछताछ करने गयी तो इन्होने सभी युवा क्रिकेटरों के कैरियर को बर्बाद करने की धमकी भी दी। मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच की प्रॉपर्टी सेल की टीम ने इस मामले में विजय बर्हाटे (43) सहित कुल 3 लोगों जीवन मुकादम (26), दिनेश मोरे (26) को गिरफ्तार किया। चेंबूर पुलिस ने सभी को कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने सभी आरोपियों को 4  तारीख तक पुलिस कस्टडी में रखने का आदेश सुनाया।







संबंधित विषय
ताजा ख़बरें