बेटी पैदा होने की तानों से परेशान होकर महिला ने 3 महीने की बच्ची को डूबा कर मारा

महिला के पति ने बेटे के लालच में कई बार महिला का अबॉर्शन भी करा चुका है। यह हैरान कर देने वाली घटना मुंबई के कालाचौकी की है। इस मामले में पुलिस ने महिला को गिरफ्तार किया है।

बेटी पैदा होने की तानों से परेशान होकर महिला ने 3 महीने की बच्ची को डूबा कर मारा
SHARES

एक महिला को बेटा पैदा न होने की वजह से उसे उसके ससुराल वालों ने इतना ताना दिया कि महिला ने तंग आकर अपनी तीन महीने की बेटी को पानी में डूबा दिया, जिससे बच्ची की मौत हो गई। महिला को दो बेटी है, महिला के पति ने बेटे के लालच में कई बार महिला का अबॉर्शन भी करा चुका है। यह हैरान कर देने वाली घटना मुंबई के कालाचौकी (kalachowki) की है। इस मामले में पुलिस ने महिला को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने बताया कि, पहले यह महिला ने पुलिस स्टेशन में अपनी बेटी के अपहरण की रिपोर्ट लिखाने पहुंची। महिला ने पुलिस को बताया कि, मंगलवार को एक महिला उनके घर आई और उन्हें नशीला पदार्थ खाकर बेहोश कर दिया और सोती हुई बच्चे को लेकर चली गई। महिला की शिकायत पर पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

यही नहीं महिला की सहायता से पुलिस ने कथित अपहरणकर्ता महिला का स्केच भी बनवाया।

 पुलिस ने इलाके के कई सीसीटीवी फुटेज खंगाले।  काफी मशक्कत के बाद भी जब पुलिस को कुछ नहीं मिला तो गुरुवार को पुलिस ने महिला व उसके पति को पूछताछ के लिए थाने में बुलाया। 

पुलिस द्वारा पूछताछ के दौरान आरोपी महिला सही जवाब नहीं दे रही थी, जिसके बाद पुलिस को शक हुआ और कड़ी पूछताछ के बाद आखित महिला ने सच्चाई बयां कर दी।

पुलिस के मुताबिक, आरोपी महिला की साल 2011 में शादी हुई थी और 2013 में उसकी एक बेटी भी हुई थी। जब महिला ने दूसरी बार गर्भधारण किया, तो उसके ससुराल वालों ने बच्चे के लिंग का जांच करने के लिए काला जादू किया और गर्भ में लड़की होने का अंदेशा जताते हुए महिला को गर्भपात कराने के लिए मजबूर किया।

जांच अधिकारी के मुताबिक, इसी तरह महिला का तीन और गर्भपात कराया गया। और इस बार जब महिला फिर गर्भवती हुई तो महिला ने बच्चे को जन्म देने का फैसला किया।

इसके बाद अगस्त महीने में महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया, लेकिन बच्ची के पैदा होते ही महिला के पति और सास सहित उसके सुसराल के अन्य सदस्यों ने उसे प्रताड़ित करना शुरू के दिया।

आरोप है कि इसके बाद महिला मानसिक रूप से इतनी परेशान हो गई कि उसने अपने बच्चे को मारने का मन बना लिया और मंगलवार रात को इस घटना को अंजाम दिया. महिला ने घर में रखे पानी की टंकी में बच्ची को डूबा दिया, जिससे बच्ची की मौत हो गई। पुलिस को पानी की टंकी से बच्ची की लाश बरामद हुई।

महिला ने कहा कि उसने यह कदम इसलिए उठाया क्योंकि वह मानसिक रूप से परेशान थी। पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया है और मामले की जांच की जा रही है।

पढ़ें: कोरोना की वजह से अनाथ हुए छात्रों की 10वीं-12वीं की परीक्षा शुल्क माफ

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें