किसान की मंत्रालय में पिटाई, कृषि मंत्री ने बताया धक्कामुक्की

मुंबई - औरंगाबाद के कन्नड तालुका से आए किसान की एक पुलिसवाले ने मंत्रालय में पिटाई की है। पीड़ित किसान का नाम रामेश्वर भुसारे है। भुसारे 2015 में ओला गिरने की वजह से हुए नुकासान की भरपाई की मांग लेकर मंत्रालय आए हुए थे। भुसारे को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और कृषि मंत्री पांडुरंग फुंडकर से मुलाकात करनी थी।

पर जब भुसारे को किसी भी विभाग से प्रतिसाद नहीं मिला तो वे मुख्यमंत्री के कार्यालय के बाहर जाकर बैठ गए। जिसके बाद पुलिस ने भुसारे को अपने खेमे में लेकर मारपीट की। पुलिस के इस हमले में उन्हें चोटें आई और होठ से खून भी निकला।

इस पर कृषि मंत्री पांडुरंग फुंडकर का कहना है कि पुलिस ने किसान के साथ मारपीट नहीं की है। उनके बीच सिर्फ धक्कामुक्की हुई है। साथ ही कृषि मंत्री ने कहा कि रामेश्वर भुसरे से कुछ दिन पहले ही मेरी मुलाकात हुई थी। उन्हें बैंक से लोन चाहिए था, जिसके लिए हमने उन्हें सब्सिडी देने का आश्वासन दिया था।

हाल ही में विपक्ष द्वारा विधानसभा में जोर शोर से किसान कर्ज माफी का मुद्दा उठाया गया था, उसके बाद किसान पर इस तरह का हमला देख ऐसे अनुमान लगाए जा रहें है कि विपक्ष इस मुद्दे को लेकर काफी आक्रामक होते हुए सरकार को घेरने का पूरा प्रयास कर सकता है।

Loading Comments