आरपीएफ अधिकारी ने चलती ट्रेन के सामने लगाई छलांग, चोरी मामले में थे आरोपी


SHARE

कुर्ला रेलवे स्टेशन पर उस समय हड़कंप मच गया जब एक शख्स ने ट्रेन के सामने छलांग लगा आत्महत्या करने का प्रयास किया। शख्स को घायल अवस्था में सायन के लोकमान्य तिलक अस्पताल में दाखिल कराया गया। चौंकाने वाली बात यह है कि शख्स आरपीएफ विभाग में उपनिरीक्षक पद कार्यरत पर कार्यरत है और इनका नाम आर.आर मिश्रा है। 


चोरी मामले थे आरोपी 

मिली जानकारी कर अनुसार मिश्रा की तैनाती माटुंगा के रेलवे वर्कशॉप पर लगी थी। कुछ महीने पहले इस वर्कशॉप में चोरी की बड़ी घटना सामने आई, जांच में खुलासा हुआ कि इस वर्कशॉप से एक ट्रक भर कर तांबा और पीतल बेचा गया था। इस चोरी में कुल 11 आरपीएफ जवानों का नाम सामने आया जिनमें से एक आर आर मिश्रा भी थे। इन सभी को जांच पुरो होने तक के लिए निलंबित कर दिया गया। चोरी के इस मामले की जांच आरपीएफ अधिकारी सुरेश अत्री कर रहे थे। सुरेश अभी अधिकारीयों को पूछताछ के लिए हमेशा बुलाया करते थे। इसी दौरान सोमवार सुबह को भी मिश्रा को पूछताछ के लिए आरपीएफ कार्यालय बुलाया गया था।


पूछताछ से थे परेशान 

बताया जाता है कि मिश्रा जब कुर्ला स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 1 पर पहुंचे तो टिटवाला स्लो ट्रेन आ रही थी, तभी अचानक मिश्रा ने ट्रेन के नीचे छलांग लगा दी। गनीमत रही कि इस हादसे में मिश्रा घायल हुए उनकी जान नहीं गयी। मिश्रा को सायन के अस्पताल में तत्काल इलाज के लिए दाखिल कराया गया। मिश्रा द्वारा आत्महत्या करने का कारण पूछताछ से परेशान होना बताया जाता है।


मिश्रा द्वारा आत्महत्या करने के मामले में पुलिस थाने में आपराधिक अपराध दर्ज किया गया है। मिश्रा को जब अस्पताल में दाखिल कराया गया तब वे बेहोश थे होश में आने पर आत्महत्या करने की असली वजह सामने आएगी। अभी पुलिस आगे की जांच कर रही है।

समाधान पवार, पुलिस उपायुक्त, सेट्रल रेलवे

संबंधित विषय