मीनाक्षी थापा की हत्या के मामले में दो आरोपियों को उम्र कैद की सजा़

साल 2012 में मीनाक्षी थापा की हत्या कर दी गई थी

मीनाक्षी थापा की हत्या के मामले में दो आरोपियों को उम्र कैद की सजा़
SHARES

सेशन कोर्ट ने 6 साल पहले नेपाली मूल की ऐक्ट्रेस मीनाक्षी थापा की हत्या के मामले में शुक्रवार को दोनों आरोपियों को आजीवन कैद की सजा सुनाई। साल 2012 में मीनाक्षी थापा की हत्या कर दी गई थी, इस मामले में आरोपियों अमित जायसवाल और प्रीति सुरीन को अपहरण और हत्या के मामले का दोषी करार दिया गया था, जिन्हे कोर्ट ने शुक्रावर को उम्रकैद की सजा सुनाई।


यह भी पढ़े- 'आप लोग मुझे गोली मार दो लेकिन मैंने मर्डर नहीं किया है'

मामले की सुनवाई के दौरान सरकारी वकिल उज्वल निकम ने कहा कि अमित और प्रीति 13 मार्च 2012 को मीनाक्षी को भोजपुरी फिल्मों में काम दिलाने के बहाने उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद लेकर गए थे। इस दौरान उन्होंने पहले उससे फिरौती की मांग की और फिर उसकी हत्या कर दी। अदालत ने इस संबंध में दोनों आरोपियों को आईपीसी की धारा 364-ए (अपहरण और फिरौती) और 302 (हत्या) के तहत दोषी मानते हुए शुक्रवार को उम्रकैद की सजा देने का फैसला सुना दिया।

यह भी पढ़े - मेकर चेंबर्स की 11वीं मंजिल से कूदकर विदेशी नागरिक ने दी जान

दोनों आरोपी 14 मार्च 2012 को लखनऊ से गिरफ्तार किए गए थे। इस केस के संबंध में कुल 36 गवाहों का बयान दर्ज किया गये थे।

Read this story in मराठी or English
संबंधित विषय