• दाभोलकर मर्डर केस: मुख्य शूटर हुआ गिरफ्तार
  • दाभोलकर मर्डर केस: मुख्य शूटर हुआ गिरफ्तार
SHARE

अंधश्रद्धा निर्मूलन समिती के अध्यक्ष और सामाजिक कार्यकर्ता नरेंद्र दाभोलकर हत्या प्रकरण मामले में महाराष्ट्र एटीएस ने सफलता हासिल करते हुए शनिवार रात औरंगाबाद से सचिन अंधुरे नामके एक और आरोपी को गिरफ्तार किया। गिरफ्तारी के बाद उसे 26 अगस्त तक सीबीआई रिमांड पर भेज दिया गया। इस मामले में अब तक तीन लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

मुख्य शूटर है सचिन अंधुरे 

सीबीआई ने पहले ही मुंबई से डॉ. वीरेंद्र तावड़े को गिरफ्तार किया था जबकि अभी हाल ही में शरद कलसकर को भी गिरफ्तार किया गया। शरद कलसकर वही आरोपी है जो नालासोपारा से गिरफ्तार किये गए वैभव राउत का सहयोगी है। इसे एटीएस ने पुणे से गिरफ्तार किया था और इसके घर से भी कई आपत्तिजनक वस्तुएं मिली थीं। आपको बता दें की नरेंद्र दाभोलकर की 20 अगस्त 2013 को पुणे में हत्या कर दी गई थी। वे अंधविश्वास के खिलाफ लोगों को जागरूक करते थे। सीबीआई के अनुसार अंधुरे भी दाभोलकर हत्याकांड में शामिल था और इसी ने ही गोली चलाई थी।  


पढ़ें: नालासोपारा एटीएस रेड- मालेगांव में फिर से ब्लास्ट करने के थे फिराक में!

इस तरह गिरफ्तार किया गया अंधुरे को 

गौरतलब है कि महाराष्ट्र एटीएस ने अभी हाल ही में मुंबई के करीब नालासोपारा से वैभव राउत नामके एक शख्स को गिरफ्तार किया था। इसके घर से एटीएस को लगभग 20 देशी बम और कई पिस्तौल भी मिली थी। वैभव से पूछताछ के बाद एटीएस ने पुणे से उसके दो सहयोगियों शरद कासलकर और सुधन्वा गोंधलेकर को भी गिरफ्तार किया। इन सभी के सनातन संस्था से तार जुड़े होने के बाद एटीएस ने दाभोलकर हत्याकांड का भी एंगल तलाश रही थी, जिसमें एटीएस को सफलता मिली और पूछताछ में पता चला कि शरद कासलकर दाभोलकर हत्याकाँड में शामिल था।. उसी के निशानदेही पर पुलिस ने शनिवार को सचिन अंधुरे को भी गिरफ्तार किया जो मुख्य शूटर था।   

 

इस एंगल की भी जांच कर रही सीबीआई 

यही नहीं दाभोलकर मर्डर मामले में सीबीआई ने जून 2016 में हिंदू जन जागृति समित के सदस्य वीरेंद्र तावड़े को भी गिरफ्तार किया था। तावड़े ही दाभोलकर हत्याकांड का मुख्य सूत्रधार था। यही नहीं अब सीबीआई दाभोलकर के अलावा मराठी लेखक गोविंद पानसरे, कर्नाटक के विचारक एमएम कलबुर्गी और पत्रकार गौरी लंकेश के मर्डर एंगल को भी तलाश करने की कोशिश कर रही है कयोंकि इन सभी के मर्डर के हिंदू कट्टरपंथियों का हाथ बताया जाता है।

पढ़ें: नालासोपारा: तीनों ने यूपी जाकर सीखा था देशी कट्टा बनाना, एटीएस पूछताछ में राउत कर रहा नए नए खुलासे

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें