सायबर अपराध पर लगेगी लगाम, पुलिस ने की यह पहल


SHARE

मुंबई जैसे शहर में अपराध रोकना मुंबई पुलिस के लिए हमेशा चुनौती भरा होता है। जैसे-जैसे तकनीकी बढ़ती जा रही है वैसे वैसे गुनाह करने का तरीका भी बदलता जा रहा है। पुलिस के अनुसार अब हत्या,लूटपाट,रेप जैसे वारदातों से अधिक ऑनलाइन ठगी को अंजाम दिया जाता है। इस अपराध में बेहद ही पढ़े लिखे और शातिर किस्म के लोग जाते हैं। किसी के भी डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड का क्लोन तैयार करना, किसी के सोशली मीडिया अकाउंट को हैक कर उसमें अश्लील वीडियो या फिर इमेजेसपोस्ट करना, किसी के भी खिलाफ हेट स्पीचेस पोस्ट डालना जैसे अपराधों में काफी बढ़ोत्तरी होती जा रही है। इसे देखते हुए पुलिस ने भी अब कमर कस ली है। इन अपराधों पर लगाम लगाने के लिए मुंबई पुलिस ने साइबर अपराध जांच और रोकथाम सेल (Cyber Crime Investigation and Prevention Cell) की स्थापना की। यह सेल केवल सायबर अपराधों की ही जांच करेगा।

यह भी पढ़ें : फिर से लौटा सायबर अटैक !

कैसा होगा सायबर सेल

मुंबई के हर पुलिस स्टेहन में सायबर सेल की स्थापना की जायेगी जिसमें एक पुलिस निरीक्षक सहित 2 सहयक पुलिस निरीक्षक या उपनिरीक्षक स्तर का अधिकारी होगा। यानि हर सेल में 3 से 4 कर्मचारी रहेंगे। सोमवार से इस सेल के अधिकारीयों की ट्रेनिंग शुरू हो जाएगी जो कि 5 दिनों तक चलेगी। अपराधियों से निपटने के लिए इन अधिकारीयों को अत्याधुनिक ऐप्प और सॉफ्टवेयर से लैस टैब भी दिया जायेगा। मुंबई के 5 ठिकानों पर प्रशिक्षण केंद्र बनाए गए हैं।

यह भी पढ़ें : इस तरह लड़ें सायबर क्राइम से

सायबर हेल्पलाइन

सायबर अपराध की रोकथाम के लिए पुलिस ने सायबर हेल्पलाइन की भी शुरुआत की है, जिसका नंबर 9820810007 है। इस नंबर पर फोन करके कोई भी सायबर अपराध की जानकारी सम्बंधित पुलिस अधिकारी को दे सकता है।

यह भी पढ़ें : ऑनलाइन शोषण के मामलों में मुंबई नंबर वन

सायबर सेल का कार्य

  • इस सायबर सेल का काम सायबर अपराध केस को जल्द से जल्द हल करना।
  • सायबर अपराध को रोकना।
  • अपराधियों को जल्द से जल्द सजा दिलवाना है।





संबंधित विषय
ताजा ख़बरें