मालाड टोइंग केस में आया नया मोड, नया वीडियो आया सामने

 Malad
मालाड टोइंग केस में आया नया मोड, नया वीडियो आया सामने

मालाड ट्रैफीक पुलिस द्वारा एक बच्चे को दुध पिलाती महिला की गाड़ी को टोल करने के मामले मे अब एक नया मोड आ गया है। इस मामले में अब एक नया वीडियो सामने आया है। इस वीडियों में साफ दिख रहा है की जब पुलिस कॉन्स्टेबल गाड़ी टोल कर रहा था तो उस समय नवजात बच्चा उस महिला के हाथ में नही था, बल्की वो बच्चा उसके पति के हाथ में था। साथ ही इस वीडियों में दिख रहा है की जब गाड़ी को टोल करना शुरु किया गया तो महिला के पति ने बच्चे तो महिला के गोद में दे दिया।

क्या था मामला
शनिवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें ट्रैफिक पुलिस कॉस्टेबल एक गाड़ी को टोल करके ले जा रहा थे । जिसमें एक महिला अपने 7 महिने के बच्चे को दुध पिला रही थी। इस वीडियों के सामने आने के बाद ट्रैफिक पुलिस विभाग ने कथित आरोपी पुलिस कॉस्टेबल शशांक राणे को संस्पेंड कर दिया था और जांच के आदेश दिये थे।

क्या है सच्चाई
शुक्रवार को मालाड एस.वी. रोड पर ट्रैफिक पुलिस कॉस्टेबल शशांक राणे ने नो पार्किंग में खड़ी एक गाड़ी को टोल किया। गाड़ी को टोल करते समय गाड़ी का मालिक अपनी पत्नी के साथ वहां पहुंचा। पत्नी राखी के साथ उसका 7 महिने का बच्चा भी था। दोनों ने शशांक राणे को गाड़ी ना उठाने के लिए कहा। हालांकी घटना स्थल पर लगभग आधे घंटे तक शशांक राणे ने दोनों को समझाने की कोशिश की। लेकिन दोनों ने ही राणे की बात सुनने से मना कर दिया , जिसके बाद शशांक राणे ने स्थानिय पुलिस की मदद ली।
जब पुलिस ने गाड़ी को टोल करना शुरु किया तो राखी माली गाड़ी में बैठ गई। जैसे ही गाड़़ी टोल की गई वैसे ही महिला ने बच्चे को अपने हाथ में लेकर दुध पिलाना शुरु किया।

राष्ट्रीय महीला आयोग ने की कार्रवाई की मांग
नए वीडियों के सामने आने के बाद राष्ट्रीय महिला आयोग ने पुलिस ने राखी माली के खिलाफ भी कार्रवाई करने की मांग की है। साथ ही अब इस वीडियों के सामने आने के बाद अब लोग सस्पेंडेड ट्रैफिक पुलिस कॉस्टेबल को फिर से बहाल करने की मांग की । 

Loading Comments