ऑनलाइन ठगी, ओटीपी बताने पर खाते से निकल गए 56 हजार रुपए

आधार कार्ड, पैन कार्ड और ओटीपी की मदद से एक ठग ने 25 वर्षीय युवक के खाते से 56 हजार रुपए निकाल लिए। युवक को इस बात का पता तब चला जब उसे इसका मैसेज आया।

ऑनलाइन ठगी, ओटीपी बताने पर खाते से निकल गए 56 हजार रुपए
SHARES

भले ही मोदी सरकार डिजिटल होने का दम भरती हो या फिर लोगों से सारे आर्थिक व्यवहार ऑनलाइन करने की सलाह देती हो लेकिन ऑनलाइन फ्राड को रोकने के लिए कुछ खास कदम नहीं उठा रही है। एक नये घटना के मुताबिक आधार कार्ड, पैन कार्ड और ओटीपी की मदद से एक ठग ने 25 वर्षीय युवक के खाते से 56 हजार रुपए निकाल लिए। युवक को इस बात का पता तब चला जब उसे इसका मैसेज आया।

क्या था मामला?
शिकायतकर्ता युवक 20 दिसंबर के दिन भी रोज की तरह काम पर जा रहा था। युवक जब बोरीवली पहुंचा तो उसे एक अज्ञात फोन आया। फोन करने वाले शख्स ने युवक को बताया कि वह बैंक से बोल रहा है। यही नहीं फोन करने वाले शख्स ने युवक का बैंक खाता, आधार नंबर और पैन नंबर भी बताया, इसके बाद युवक को उस फोन करने वाले शख्स के ऊपर विश्वास हो गया। फोन करने वाले शख्स ने बताया कि वह उसके खाते से संबंधित कुछ काम कर रहा है इसीलिए उसके फोन नंबर पर एक ओटीपी आएगा और उस ओटीपी की जानकारी वह साझा करे।

निकाल लिए 56 हजार  
युवक के मोबाइल पर जैसे ही ओटीपी आया उसने वह नंबर फोन करने वाले शख्स को बता दिया। इसके बाद उस युवक के मोबाइल पर एक और मैसेज आया जिसमें युवक के खाते से 56 हजार रुपए निकाले जाने की सूचना दी गयी थी। इसके बाद युवक ने इसकी शिकायत बोरीवली पुलिस से की। अब बोरीवली पुलिस इस मामले की जांच में जुट गयी है।

मुंबई लाइव की सलाह
आपको बता दें कि कोई भी बैंक कर्मी कभी भी आपसे आपका आधार कार्ड नंबर, पैन कार्ड नंबर, क्रेडिट या डेबिट कार्ड नंबर, पासवर्ड, सीवीवी या फिर ओटीपी की जानकारी नहीं मांगती, अगर इस तरह का कोई भी कॉल आपके पास आता है तो फोन करने वाले को कोई भी जानकारी न दें, अथवा अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन में इस बात की शिकायत करें।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय