नौकरी दिलाने के नाम पर लोगों से ठगी करनेवाले गिरफ्तार

दोनों आरोपी उत्तर प्रदेश के रहनेवाले है और नवी मुंबई में रहते थे।

SHARE

कांदिवली की महिंद्रा एंड महिंद्रा कंपनी में नौकरी दिलाने के नाम पर झासा देनेवाले एक गिरोह का मुंबई पुलिस ने भांडाफोड़ किया है। पुलिस ने इस मामले में विपिन यादव (19) और मोहित यादव (21) नाम के दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इन दोनों को नई दिल्ली से गिरफ्तार किया है। दोनों से पुछताछ में ये बात सामने आई है की इन दोनों ने सैकड़ो लोगों को अपनी ठगी का शिकार बनाया है। ये दोनों आरोपी उत्तर प्रदेश के रहनेवाले है और नवी मुंबई में रहते थे।

शिकायतकर्ता महिंद्रा एंड महिंद्रा कंपनी के वर्ली में एचआर डिवीजन में कार्यरत है। सितंबर 2018 में, अभिजीत रॉय नामक एक शख्स का इमेल कंपनी को आया। इस इमेल में लिखा था की उसे महिंद्रा एंड महिंद्रा कंपनी में नौकरी के लिए बुलाया गया है। इस मेल को भेजने वाली कंपनी ने उनसे रजिस्ट्रेशन के नाम पर कुछ पैसे मांगे। हालांकी इमेल पर संदेह आने के बाद शिकायतकर्ता ने इस मेल को कंपनी के पास भेजा । 30 नवंबर को इसकी जांच के लिए एक सलाहकार कंपनी नियुक्त की गई।

नकली लोगो
सलाहकार कंपनी ने फर्जी इमेल में दिये गे नंबर पर फोन किया तो सामने से पायल गुप्ता नाम की एक महिला ने फोन उठाया और कहा की वह महिंद्रा और महिंद्र कंपनी में एचआर विभाग में काम करती है। पायल ने शिकायतकर्ता से पंजीकरण के लिए 3,400 रुपये का भुगतान करने को कहा। इसके अलावा, महिंद्रा कंपनी से मेल करने वाली ईमेल आईडी पर एक बायोडाटा भेजें। बायोडाटा भेजने के बाद अगले ही दिन महिंद्रा एंड महिंद्रा में नौकरी का फर्जी इमेल उसे भेजा गया। यह आश्वासन दिया गया कि उन्हें 25,500 रुपये का वेतन मिलेगा। आरोपियों ने उस समय कंपनी के नकली लोगो और नाम का इस्तेमाल भी किया था।

आयपी एड्रेस से चला पता
महिंद्रा कंपनी द्वारा नियुक्त सहायक कंपनी ने इस पूरे रैकेट की जांच की, जिसके बाद इस धोखाधड़ी करनेवाली इस एचआर कंपनी के नाम पर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई। साइबर पुलिस ने आईपी पते के साथ एक शिकायत दर्ज की और दोनों ही आरोपियों को गिरफ्तार किया।

यह भी पढ़ेचोरी का मोबाइल खरीदने और बेचने पर हुई जेल

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें