Advertisement

दो साल के अंतराल के बाद बाणगंगा में फिर से शुरु होगी महाआरती

7 नवंबर को शाम 7 बजे इसका आयोजन किया जाएगा

दो साल के अंतराल के बाद बाणगंगा में फिर से शुरु होगी महाआरती
SHARES

बाणगंगा में महाआरती ( BANGANGA MAHAAARTI)  दो साल के अंतराल के बाद फिर से शुरू होगी। इस साल यह 7 नवंबर को शाम 7 बजे आयोजित किया जाएगा।  जीएसबी मंदिर ट्रस्ट के ट्रस्टी और मानद सचिव शहसंक गुलगुले का कहना है की वाराणसी में गंगा पूजा और महा आरती है, इसलिए हमने सोचा कि क्यों न यहां भी। पिछले दो वर्षों को छोड़कर, हम इसे हर साल नियमित रूप से कर रहे थे। 

किंवदंती के अनुसार, भगवान राम और लक्ष्मण ने इस जगह की  यात्रा की। भगवान राम द्वारा एक तीर चलाए जाने के बाद, गंगा नदी की एक सहायक उस स्थान से निकली जहां तीर मारा गया था। जिसे बाणगंगा के नाम से जाना जाने लगा।   बाणगंगा शहर के कुछ मीठे पानी के भंगारो में से एक है। आरती के दौरान एक हजार से अधिक दीये जलाए जाएंगे।

आरती कार्तिक पूर्णिमा के दिन की जाती है। कार्तिक पूर्णिमा को दीपक पूर्णिमा के रूप में भी जाना जाता है क्योंकि यह पहली पूर्णिमा का दिन है। कार्तिक मास की शुरुआत बलिप्रतिपदा से होती है और यह महीना शुभ माना जाता है। कई लोग महाआरती में शामिल होते हैं और इस साल भी बड़ी संख्या में लोग शामिल होंगे।

इस कार्यक्रम के लिए मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, राज ठाकरे की पत्नी शर्मिला और मंगल प्रभात लोढ़ा जैसे गणमान्य व्यक्तियों को भी आमंत्रित किया है। लोढ़ा के स्थानीय विधायक होने और कार्यक्रम के पूर्व प्रायोजक के निश्चित रूप से आने की उम्मीद है। महा आरती किसी भी राजनीतिक दल से संबद्ध नहीं है। 

यह भी पढ़ेमुंबई- मेट्रो 2ए और 7 का दूसरा चरण जनवरी में होगा शुरु

Read this story in मराठी or English
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें