अटेंडेंस का झोल खत्म

 Mumbai
अटेंडेंस का झोल खत्म

इस एकेडमिक साल से, कॉलेज के छात्रों को उनकी अटेंडेस को लेकर काफी सतर्क रहने की जरुरत है। क्योकी कॉलेज अब छात्रों की उपस्थिती को लेकर काफी सख्त होने जा रहे है। जिनकी उपस्थिती कॉलेज के नियमानुसार नहीं होगी उनपर कॉलेज प्रशासन कार्रवाई कर सकता है। महाविद्याल अब उपस्थिती के लिए बायोमैट्रिक मशीन का इस्तेमाल करने जा रहे है। जिसके बाद छात्र प्रॉक्सी उपस्थिती नहीं कर पाएंगे।

मिठिबाई कॉलेज
कॉलेज ने रेडियो फ्रीक्वेंसी पहचान प्रणाली की शुरुआत की है। जिसमें छात्र प्रोक्सी हस्ताक्षर नहीं कर सकते। छात्रों के साथ साथ इस तकनीक का इस्तेमाल शिक्षको और उन्य स्टॉफ के लिए किया जाएगा। छात्रों को सिस्टम ऐप्लीकेशन प्रोडक्ट (एसएपी) दिया जाएगा जो आईडी की तरह काम करेगा है। ये कार्ड दो साल के लिए जूनियर कॉलेज के छात्रों के लिए और डिग्री कॉलेज के छात्रों के लिए तीन साल दिए जाएंगा।

किशनचंद चेलाराम कॉलेज (केसी)
केसी कॉलेज के छात्रों को भी स्मार्ट कार्ड मिलेगा। जो प्रवेश करते समय और महाविद्यालय छोड़ने के दौरान उपयोग करना होगा। छात्रों के लिए यह अनिवार्य कर दिया गया है। केसी महाविद्यालय के प्राचार्य मंजूला श्रीनिवासन का कहना है की मौजूदा समय में कॉलेज में 700 छात्र है, इन सभी छात्रों के लिए यह अनिवार्य कर दिया गया है साथ ही उनकी उपस्थिती कम से कम 75% कर दी गई है।


डाउनलोड करें
 Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 


Loading Comments