तीन कॉलेजों को मिला स्वायत्ता का दर्जा


SHARE

मुंबई के SNDT महिला यूनिवर्सिटी के भानुबेन महेंद्र नानावटी कॉलेज ऑफ़ होम साइंस, खार स्थित HJ कॉलेज ऑफ़ एजुकेशन, पनवेल स्थित चांगु काना ठाकुर कॉलेज को यूनिवर्सिटी ग्रांट कमिशन यानी यूजीसी ने स्वायत्ता का दर्जा दे दिया। अब ये तीनों कॉलेज मुंबई यूनिवर्सिटी से संलग्न हो जाएंगे।

मुंबई विश्वविद्यालय से संबद्ध स्वायत्त कॉलेजों को अपना पाठ्यक्रम और पाठ्यक्रम तय करने की स्वतंत्रता है। इसी तरह, नए पाठ्यक्रमों और परीक्षाओं को भी स्वतंत्रता मिलती है। इसके अनुसार, मुंबई के दो और पनवेल के एक कॉलेजों को यह स्वतंत्रता मिलेगी।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के मुताबिक 'नैक' के मूल्यांकन में जिन कॉलेजों को 3.5 से ग्रेड मिलेंगे उन्हें स्वायत्ता का दर्जा दिया जाएगा। उसके बाद, राज्य के 36 कॉलेजों ने अब तक स्वायत्तता की मांग की, जिनमें से गोरेगांव का पाटकर कॉलेज और बांद्रा का खालसा कॉलेज भी इस सूची में शामिल है। अब तक 8 कॉलेजों को पांच साल के लिए स्वायत्ता का दर्जा दिया गया. इसके अंतर्गत इन कॉलेजों को 'रूसा' के तहत 5 करोड़ की निधि उपलब्ध कराई जाएगी।

हालांकि मुंबई के 16 ऐसे कॉलेज हैं जिन्हें स्वायत्ता मिली है. जबकि मुंबई के ही एम.एम.पी. शाह महिला कॉलेज, आर.ए. पोद्दार कॉलेज ऑफ कॉमर्स, निर्मला निकेतन कॉलेज ऑफ सोशल वर्क तीनों कॉलेज अभी भी स्वायत्ता मिलने के इंतजार में हैं।

इन कॉलेजों को मिल चुकी है ऑटोनोमी

  • भानुबेन महेंद्र नानावटी कॉलेज ऑफ होम साइंस, माटुंगा
  • एच.जे. कॉलेज ऑफ एजूकेशन, खार
  • चांगु काना ठाकूर कॉलेज, पनवेल
  • कर्मवीर भाऊराव पाटील कॉलेज, पंढरपूर
  • छत्रपती शिवाजी कॉलेज, सातारा
  • सद्गुरू गाडगे महाराज कॉलेज, कराड
  • तुलजाराम चतुरचंद कॉलेज, बारामती
  • श्री. परशुराम भाऊ कॉलेज, पुणे
संबंधित विषय
ताजा ख़बरें