Advertisement

एनएम कॉलेज के 27 बीएएफ छात्र पिछलें दो महीनों से कर रहे है मार्कशीट का इंतजार!

छात्रों के अनुसार, कॉलेज ने जानबूझकर 27 छात्रों के मार्कशीट को रोका है क्योंकि वे किसी और विश्वविद्यालय से संबंधित थे।

एनएम कॉलेज के 27 बीएएफ छात्र पिछलें दो महीनों से कर रहे है मार्कशीट का इंतजार!
SHARES

मुंबई विश्वविद्यालय में पेपर चेकिंग में हुी गड़बड़ी के बाद अब रें, एन एम कॉलेज के अकाउंट एंड फाइनेंस (बीएएफ) के कुछ छात्रों को अपने परिणामों का इंतजरा करना पड़ रहा है। एन एम कॉलेज के अकाउंट एंड फाइनेंस (बीएएफ) के 27 छात्र अपने तीसरे साल के सेमेस्टर 5 के परिणामों का इंतजार अभी तक कर रहे है।

21 अप्रैल 2018 को छात्रों को दी गई थी मार्कशीट

कॉलेज ने अभी तक छात्रों को उनकी मार्कशीट नहीं दी है। 21 अप्रैल, 2018 को नरसी मोंजी कॉलेज में बीएएफ के तीसरे वर्ष की परिणामों की घोषणा की गई। मई के महीने में मार्कशीट छात्रों तो बांट गए , हालांकी 27 छात्रों को मई में मार्कशीट नहीं मिले। छात्रों ने शिकायत की है की कॉलेज ने जानबूझकर उनकी मार्कशीट जारी नहीं की है।

यह भी पढ़े- प्लास्टिक बंदी- बुधवार को 253 किलो प्लास्टिक की थैलियां जब्त!

छात्रों ने दावा किया कि वे अन्य विश्वविद्यालयों से संबंधित हैं है जिसके कारण कॉलेज ने मार्कशीट उन्हे नहीं दिया है। छात्रों का कहना है की उन्होने कॉलेज में सभी जरुरी दस्तावेज जमा किये थे, लेकिन इसे आगे परीक्षा विभाग को नहीं भेजा गया। जिसके कारण , छात्रों को अपनी मार्कशीट नहीं मिली।

कॉलेज प्रशासन का आरोपों से इंकार

युवा सेना और एन एम कॉलेज के छात्रों ने कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ पराग अज़गांवकर से मुलाकात की और इस घटना के बारे में विस्तार से जानकारी दी। कॉलेज के प्रिंसिपल ने दावा है की उनके यहां से किसी भी तरह की कोई भी गलती नहीं हुई है। युवा सेना ने कॉलेज अधिकारियों से जल्द से जल्द मार्कशीट को सौंपने के लिए कहा है।

Read this story in मराठी or English
संबंधित विषय