एम्प्लॉयबलिटी में IIT bombay नंबर 1

एम्प्लॉयबिलिटी की रेंज में आईआईटी बॉम्बे पिछले साल जहां 141 से 150 के बीच में थी तो वहीं इस साल इसकी रेंज 111 से 120 तक आ आ गयी है।

SHARE

लंदन की क्यूएस ग्रेजुएट एम्प्लॉयबलिटी द्वारा जारी  भारतीय संस्थानों में IIT-bombay को वर्ल्ड ग्रेजुएट एम्प्लॉयबिलिटी रैंकिंग के 2020 संस्करण में पहले स्थान पर रखा गया है। जबकि विश्व स्तर पर इस संस्थान ने टॉप 200 में अपनी जगह बनाई है। इस सूची में आईआईटी दिल्ली, आईआईटी मद्रास और दिल्ली यूनिवर्सिटी को भी शामिल किया गया है। वर्ल्ड ग्रेजुएट एम्प्लॉयबिलिटी में उन्ही संस्थानों को जगह दी जाती है जिनके यहां प्लेसमेंट का रिकॉर्ड काफी अच्छा होता है।

इस साल इस सूची में दुनिया भर से 758 इंस्टिट्यूट्स को शामिल किया गया है। एम्प्लॉयबिलिटी की रेंज में आईआईटी बॉम्बे पिछले साल जहां 141 से 150 के बीच में थी तो वहीं इस साल इसकी रेंज 111 से 120 तक आ आ गयी है।

पढ़ें: IIT-BOMBAY में फिर घुसी गाय, चबा डाली किताब

आईआईटी बॉम्बे को दुनिया के शीर्ष 24 फीसदी शिक्षण संस्थानों की सूची में स्थान मिला है। आपको बता दें, संस्थान कि रैंकिंग इस आधार पर तय कि जाती है कि किसी भी संस्थान में पढ़ने वाले कितने छात्र शीर्ष नौकरी हासिल करने में सफल हो पाते हैं।

वहीं आईआईटी दिल्ली की रैंकिंग में रेज (151 से 160), आईआई मद्रास (171 से 180), दिल्ली विश्वविद्यालय (191 से 200), आईआईटी खड़गपुर (201 से 250), बिरला टेक्नोलॉजी और साइंस , पिलानी (251से 300), मुंबई विश्वविद्यालय (251 से 300) रेंज की कैटेगरी में रखा गया है।

रिपोर्ट के अनुसार आईआईटी मुंबई के डायरेक्टर डॉक्टर सुभाशिष चौधरी ने बताया कि, हमें खुशी है कि हमारी संस्थान एम्प्लॉयबलिटी रैंकिंग की लिस्ट में देश के पहले स्थान में जगह बनाने में सफल रही। इसका श्रेय संस्थान की फैकल्टी और छात्रों को जाता है, जिन्होंने दिन रात मेहनत की है। प्लेसमेंट के दौरान हमारे छात्रों ने अपने तेज तर्रार जवाब से उन सभी कंपनियों के दिल जीते जो उन्हें नौकरी ऑफर करने आए थे। हमें उम्मीद है अगले साल हम और भी बेहतर करेंगे।

पढ़ें: मुंबई विश्वविद्यालय के IDOLके 236 छात्रों को अलग अलग विषय में 0 अंक

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें

एम्प्लॉयबलिटी में IIT bombay नंबर 1
00:00
00:00