10 के रिजल्ट जारी, मुंबई के 816 स्कूलों का रिजल्ट 100 फीसदी


  • 10 के रिजल्ट जारी, मुंबई के 816 स्कूलों का रिजल्ट 100 फीसदी
SHARE

राज्य शिक्षण मंडल ने 10वीं बोर्ड के रिजल्ट जारी कर दिए। इस बार मुंबई के छात्रों ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। मुंबई विभाग के लगभग 3679 स्कूलों में से 816 स्कूल ऐसे हैं जिन्हे 100 फीसदी अंक मिले हैं जबकि 1270 स्कूलों का रिजल्ट 90 से लेकर 99 फीसदी तक रहा।

 
छात्रों के प्रदर्शन में सुधार 
इस बार मुंबई विभाग के दसवीं का रिजल्ट 90.41 फीसदी आया जबकि पिछले साल यह 90.09 फीसदी था। इसका मतलब है कि छात्रों के प्रदर्शन में सुधार आया है। मुंबई में इस बार 3 लाख 39 हजार 899 छात्रों ने दसवीं बोर्ड का इम्तिहान दिया था, जिसमें से 3 लाख 06 हजार 151 छात्र पास हुए हैं।

लड़कियां फिर आगे 
हर बार की तरह इस बार भी लड़कियां लड़कों से आगे रही। इस साल 7 लाख 42 हजार 593 लड़कियों ने परीक्षा दी थी जिसमें से 6 लाख 76 हजार 916 छात्राए पास हुई। यानि लड़कियों के पास होने का औसत अंक 91.46 फीसदी रहा। अगर लड़कों की बात करे तो 9 लाख 07 हजार 906 लड़को ने इस साल परीक्षा दिया था जिसमें से 7 लाख 81 हजार 939 छात्र उत्तीर्ण हुए, इनका पास होने का औसत अंक 86.51 फीसदी रहा।

दसवीं बोर्ड की परीक्षा में मुंबई सहित पुणे, नागपूर, औरंगाबाद, कोल्हापूर, अमरावती, नासिक, लातूर और कोंकण के छात्रों ने भी अच्छा प्रदर्शन किया। राज्य भर में कुल 16 लाख 36 हजार 250 छात्रों ने परीक्षा दी थी जिसमें से 14 लाख 53 हजार 203 पास हुए।


100 फीसदी अंक 

डोंबिवली की रहने वाली श्रुतिका जगदीश महाजन ने 100 फीसदी अंक लेकर अपने माता-पिता, गुरुजनों और स्कुल का नाम तो रोशन किया ही साथ ही एक मिसाल भी कायम की। चंद्रकांत पाटकर स्कूल में पढ़ने वाली श्रुतिका ने मुंबई लाइव से बात करते हुए कहा कि मुझे पूरा विश्वास था कि मेरे अच्छे अंक आएंगे लेकिन पूरा 100 फीसदी अंक के बारे में मैंने सोचा भी नहीं था।


कैसे की तैयारी?

श्रुतिका कहती हैं कि तैयारी के लिए मैंने टाइम टेबल बनाया था उसी के अनुसार प्रतिदिन 3 से 4 घंटे तक पढ़ाई करती थी। मेरी गणित थोड़ी कमजोर है इसीलिए मैंने गणित के लिए थोड़ा अधिक पढाई की। भरतनाट्यम सिखने वाली श्रुतिका दसवीं के बाद विज्ञान की पढ़ाई करना चाहती है।

सानिका थी आश्वस्त 

डोंबिवली की ही रहने वाली सानिका संजय गायकवाड़ को दसवीं में 99.80अंक मिले हैं. विद्या निकेतन स्कूल में पढ़ने वाली सानिका रिजल्ट आने के पहले से ही आश्वस्त थी कि उन्हें 90 से 95 फीसदी के बीच अंक आएंगे। इंजीनियर बन कर देश की सेवा करने वाली सानिका का कहना है कि उनकी इस सफलता के पीछे उनके मां-पिताजी और शिक्षक हैं। वे कहतीं हैं कि दसवीं की तैयारी उन्होंने एक साल पहले से ही शुरू कर दी थी।

मुंबई के स्कूलों का प्रदर्शन 
60 से  70 फीसदी – 201 स्कूल  
70  से  80 फीसदी  – 423  स्कूल
80  से  90  फीसदी  –  746 स्कूल
90 से  99.99  फीसदी  – 1270 स्कूल
100 टक्के 816  स्कूल

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें