किन्नर नहीं, ये हैं डांसिंग क्वीन

मुंबई - इस बदलती सदी में अब किन्नर भी अपने पारंपरिक कार्य को छोड़ कर मुख्यधारा से जुड़ रहे हैं। 'डांसिंग क्वीन' किन्नरों का एक ऐसा ग्रुप है जहां किन्नर अलग-अलग थीम पर डांस सीख रहे हैं। अमूमन किन्नर सड़कों और ट्रेनों में भीख मांगते नजर आते हैं लेकिन इस ग्रुप के जरिए ऐसे कई किन्नर हैं जो अपनी नृत्य कला को आगे लाने के लिए इस ग्रुप से जुड़ रहे हैं साथ ही कई लोग इसे अपना सपोर्ट भी कर रहे हैं। इसी सपोर्ट का नतीजा है कि इस ग्रुप की एक सदस्य माधुरी ने अभी हाल ही में जयेश नाम के एक मैकेनिक के साथ अपना विवाह रचाया, नहीं तो ऐसी बातें कहां सुनने और देखने को मिलती थी। डांसिंग क्वीन हमसफ़र ट्रस्ट से भी जुड़ा हुआ है जो की मुंबई में डांस प्रशिक्षण का आयोजन तो कराता ही है साथ में लोगों का टैलेंट सामने आये इसके लिए मंच भी उपलब्ध कराता है। किन्नर भी इन्सान हैं आम लोगों की तरह, ये भी समाज का एक हिस्सा बनना चाहते हैं लेकिन समाज ने इन्हें कभी उस लायक नहीं समझा।

Loading Comments