Advertisement

दीपिका, श्रद्धा कपूर और सारा अली खान की ब्रांड वैल्यू को हुआ नुकसान, ऐड पर भी पड़ा असर

इन कलाकारों के नाम ड्रग मामले में आने के बाद इनकी ब्रांड वैल्यू (brand value) पर भी असर पड़ता दिखाई दे रहा है। कई बड़ी कंपनियां इन टॉप के एक्ट्रेसेस के विज्ञापन चलाना है या नहीं? कई बड़े ब्रांड इस बारे में सोच रहे हैं?

दीपिका, श्रद्धा कपूर और सारा अली खान की ब्रांड वैल्यू को हुआ नुकसान, ऐड पर भी पड़ा असर
SHARES

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस (actor sushant singh suicide case) में ड्रग एंगल की जांच जब से शुरू हुई है तभी से बॉलीवुड (bollywood) से जुड़े कई बड़ी अभिनेत्रियों का भी ई

नाम इसमें आ रहा है। जिसे सुनकर सभी लोग हैरान हैं। इस मामले में जांच कर रही नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की जांच के घेरे में श्रद्धा कपूर (shraddha kapoor), सारा अली खान (sara ali khan) और दीपिका पादुकोण (deepika padukon) जैसी A क्लास की अभिनेत्रियां हैं जो कई बड़े अंतरराष्ट्रीय ब्रांडों के विज्ञापन में नजर आती हैं।

वर्तमान में, इन कलाकारों के नाम ड्रग मामले में आने के बाद इनकी ब्रांड वैल्यू (brand value) पर भी असर पड़ता दिखाई दे रहा है। कई बड़ी कंपनियां इन टॉप के एक्ट्रेसेस के विज्ञापन चलाना है या नहीं? कई बड़े ब्रांड इस बारे में सोच रहे हैं?

2019 में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक दीपिका 19 बड़े ब्रांड को अकेले ही इंडोर्स करती है। इनमें ब्रिटानिया, तनिष्क, एक्सिस बैंक, ओप्पो, विस्तारा एयरलाइंस जैसे ब्रांड शामिल हैं। अब ये सभी ब्रांड दीपिका के ऐड दिखाने में हिचकिचा रहे हैं। ये सभी ब्रांड दीपिका पर सालाना 600 करोड़ रुपये खर्च करते हैं।

तो वहीं श्रद्धा कपूर की बात करें तो श्रद्धा को युवा आइकन के रूप में जाना जाता है। श्रद्धा के पास वीट, लिप्टन, लक्मे, हेयर एंड केयर, वैसलीन सहित आदि कई ब्रांड हैं। ये सभी ब्रांड श्रद्धा पर 300 करोड़ खर्च करते हैं। अब ये सभी बड़े ब्रांड श्रद्धा को रिप्लेस करने की सोच रहे हैं।

तो वहीं सारा अली खान अभी हाल ही में आई हैं, लेकिन उनके पास अच्छे बड़े ब्रांड की लाइन लगी हैं।  क्योंकि सारा अली खान सैफ अली खान और अमृता सिंह की बेटी हैं, उन्हें एक फेमस चेहरे के रूप में देखा जाता है। सारा के पास कई अच्छे ब्रांड भी हैं। इसमें सॉफ्ट ड्रिंक, जूते, पेन, सौंदर्य प्रसाधन सहित आदि शामिल हैं।

जब से इन तीनों कलाकारों के नाम ड्रग केस में सामने आए हैं, तो इन ब्रांडों ने इन कलाकारों को तुरंत विज्ञापन देने से रोकने का फैसला किया है। अभी लोगों के मन में बहुत गुस्सा है।  इसलिए ये कंपनियां अब इन विज्ञापनों को दिखाते हुए कोई और नुकसान न करते हुए बीच का रास्ता निकालने की सोच रही हैं।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय
Advertisement