पद्मावती विवाद: 1दिसंबर को नहीं रिलीज होगी फिल्म

विवाद के चलते फिल्म पद्मावती की रिलीज डेट टाल दी गयी. अभी तक नयी तारीख का एलान नहीं किया गया है.

SHARE

आखिरकार फिल्म 'पद्मावती' की रिलीज डेट टाल दी गयी। फिल्म को लेकर लगातर बढ़ रहे विवादों को देखते हुए फिल्म की निर्माता कंपनी वायकॉम18 की तरफ से यह फैसला किया गया है। फिलहाल फिल्म रिलीज की नई तारीख का ऐलान नहीं किया गया है।

क्या कहा फिल्म मेकर्स ने  

फिल्म की निर्माता कंपनी वायकॉम18 द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि 'हम कानून का पालन करने वाले जवाबदार नागरिक हैं। फिल्म पद्मावती में राजपूत परंपरा और सम्मान का चित्रण किया गया है। फिल्म को देखने पर सभी भारतीय को गर्व होगा। आशा है कि CBFC की तरफ से जल्द ही फिल्म पास होगी और हम एक नयी डेट के साथ फिल्म को रिलीज करेंगे।'

यह भी पढ़े : पद्मावती पर उठे विवाद को शांत करने के लिए संजय लीला भंसाली ने जारी किया वीडियो !

सेंसर बोर्ड नाराज

इसके पहले सेंसर बोर्ड ने भी कुछ तकनीकी कारणों से फिल्म को लौटा दिया था। साथ ही इस बात पर नाराजगी जाहिर की थी कि फिल्म के निर्देशक संजय लीला भंसाली ने सेंसर बोर्ड से फिल्म के पास हुए बगैर ही कुछ चुनिंदा पत्रकारों को फिल्म दिखा दी है।

विवाद बनी वजह?

क्या विवाद की वजह से ही 'पद्मावती' की रिलीज डेट टाला गया है, इस बात पर फिल्म मेकर्स ने तो अभी तक मुहर नहीं लगायी है, लेकिन वजह विवाद ही बताई जा रही है। यही नहीं तभी तक सेंसर बोर्ड दाद्स्यों ने भी 'पद्मावती' को नहीं देखा है क्योंकि तकनीकी कारणों का हवाला देते हुए सेंसर बोर्ड ने फिल्म को लौटा दिया था।

यह भी पढ़े : ‘पद्मावती’ अब दिसंबर में नहीं अगले साल होगी रिलीज?

जनवरी में हो सकती है रिलीज

फिल्म मेकर्स ने तो फिल्म के रिलीज को लेकर अभी तक कोई तारीख डिक्लेयर नहीं की है, लेकिन बताया जा रहा है कि जनवरी में फिल्म रिलीज हो सकती है। इसका एक तकनीकी पहलू यह भी है कि नियमों के मुताबिक सेंसर बोर्ड फिल्म के क्लीयरेंस के लिए 60 दिनों तक का समय ले सकती है, ऐसे में 1 दिसंबर को रिलीज न होने के पीछे ये कारण भी हो सकता है। यानी फिल्म के रिलीज को लेकर अभी भी दो महीने (दिसंबर और जनवरी) का समय है। यही नहीं शायद तब तक विवाद भी शांत हो जाएं?

जारी रहेगा विरोध

फिल्म की रिलीज डेट भले ही टल गयी हो लेकिन करणी सेना के लोकेंद्र सिंह कल्वी का कहना है कि फिल्म की अगली रिलीज डेट पर भी इसका विरोध जारी रहेगा। फिल्म प्रदर्शित करने पर सिनेमाघर जलाने, जान से मारने और हिंसा फैलाने की धमकी दी जा रही है। अखंड राष्ट्रवादी पार्टी ने पद्मावती के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की है। जिसमें रानी पद्मिनी की छवि को खराब करने के आरोप में फिल्म पर बैन लगाने की मांग है।

यह भी पढ़े : पद्मावती के फिल्म सेट पर हादसा




संबंधित विषय
ताजा ख़बरें