इंटरव्यू - ‘...रुक जाती है हार्ट बीट'

Mumbai
इंटरव्यू - ‘...रुक जाती है हार्ट बीट'
इंटरव्यू - ‘...रुक जाती है हार्ट बीट'
इंटरव्यू - ‘...रुक जाती है हार्ट बीट'
इंटरव्यू - ‘...रुक जाती है हार्ट बीट'
इंटरव्यू - ‘...रुक जाती है हार्ट बीट'
See all
मुंबई  -  

डायरेक्टर रोहित शेट्टी की एक्शन और कॉमेडी में जबरदस्त पकड़ है। उनकी गोलमाल सिरीज लोगों को हंसाते हंसाते लोट पोट कर देती है,तो वहीं सिंघम की सिरीज अपराधियों के छक्के छुड़ा देती है। लोगों को सिंघम में अजय देवगन का जो रूप देखने मिला था वह शायद ही पहले मिला हो। रोहित शेट्टी वैसे तो फिल्मों में एक्टिंग करने से खुद को दूर रखते हैं,पर वे बीच बीच में एक्शन करने से नहीं चूकते। ऐसा ही कुछ नजारा खतरों के खिलाड़ी - 8 की प्रेस कॉन्फ्रेंस में देखने को मिला। रोहित ने सिंघम फिल्म के टायटल सॉन्ग के साथ एंट्री ली और हीरो की स्टाइल में गुंडों की धुलाई की। हालांकि इस दौरान उनके हाथ पर चोट भी आई,पर उन्होंने ऐसा जरा भी नहीं जताया कि उन्हें चोट लगी है। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद हमने रोहित शेट्टी से खास मुलाकात की। उनके सामने खतरों के खिलाड़ी के अलावा भी कुछ सवाल रखे जिनका रोहित ने बेबाकी से जवाब दिया।


डर का कहर 

मैं बचपन (16 सालसे पिता (एम बी शेट्टी) के साथ स्टंट करते आया हूं कहीं ना कहीं यही वजह रही हैकि मेरे भीतर से डर निकल गया। क्योंकि ज्यादा समय तक एक काम करने से आपको टेक्निक पता हो जाती हैं। पर ऐसा भी नहीं है कि मेरे अंदर बिलकुल भी डर नहीं है,थोड़ा बहुत तो रहता ही है। जब कोई स्टंट कर रहा होता है,या खुद करने वाले होते हैं तो दिल की धड़कनें बढ़ ही जाती हैं।

चैलेंजेस

हम भाग्यशाली हैं कि हमें इतना बड़ा शो खतरों का खिलाड़ी मिला है। सारी जरूरत की चीजें हमारे साथ होंगी। हम यही चाहेंगे कि स्टंट में हम फेल ना हों, कई बार फेल होने के चांस होते हैं। क्योंकि ये स्टंट आसान नहीं होते।  यह शो दूसरे डांस रियालटी शो से काफी अलग है। 


सुरक्षा

खतरों के खिलाड़ी स्पेन में अपना करतब दिखाने वाले हैंवहां पर तरह तरह के जानवर भी होगेंइसलिए सुरक्षा का खासा खयाल रखा गया है। साथ ही हमें हमारी लिमिट भी पता हैं। हालांकि छोटी मोटी चोटें तो आती ही रहती हैं। जैसा कि मुझे अभी लग गई (हाथ दिखाते हुए)। सबसे बड़ी बात यह है कि जो हमारे खिलाड़ी हैं वे स्टंटमैन नहीं हैं। वे अलग अलग फील्ड से आए लोग हैं। इसलिए उनकी सुरक्षा का खयाल रखना सबसे अहम मुद्दा है। 

किसमें कितना है दम 

सभी कंटेस्टंट में कुछ ना कुछ खूबी है। गीता स्पोर्ट्स से आई हुई लड़की हैं,उन्होंने रेसलिंग से देश का सम्मान बढ़ाया है। अब देखना होगा कि वे यहां पर कैसा पर्फॉर्म करती हैं। करन को मुझे देखना है डरता है या कैसे परफॉर्म करता है,क्या ह्यूमर लाता है। निया में वह बात है, रवि में वह बात है, रित्विक में भी वह बात है। साथ ही रित्विक शो के करीब भी रह चुका है। कई बार ऐसा होता है कि आप जिसको सबसे कम आंकते हो वही सबसे अच्छा करता है। 

हम दिवाली में ही आते हैं

पूछे जाने पर कि दिवाली में सुपर स्टार रजनीकांत की फिल्म 2.0 रिलीज हो रही है, तो आपकी फिल्म गोलमाल अगेन कब रिलीज होगी? इस पर रोहित ने कहा हम दिवाली में ही आते हैं, हम पहले क्लियर नहीं थे कि दिवाली तक फिल्म पूरी हो पाएगी या नहीं क्योंकि अजय देवगन बादशाहो में व्यस्त थे, पर अब हमें पता है दिवाली से पहले शूट पूरा कर लिया जाएगा और दिवाली में गोलमाल अगेन रिलीज होगी। 


जय असल खिलाड़ी

जमाना हुआ करता था,जब अजय देवगन चौथी मंजिल से छलांग लगाते थे। वे असल खिलाड़ी हैं,पर आज के समय में स्टंट काफी आसान हो गए हैं। यह एक्टर स्टंटमैन और डायरेक्टर सबके लिए अच्छा भीहै। इसमें नाही किसी को जान का खतरा रहता है और नाही किसी का स्ट्रेस बढ़ता है। 


सारी फिल्में बाहुबली नहीं बन सकती

बाहुबली का पहला पार्ट सभी को पसंद आयापूरा देश जानना चाहता था कि कटप्पा ने बाहुबली को क्यों माराउसके बाद दूसरा पार्ट आया और इसने भी तूफान ला दिया। अगर फिल्म की कमाई की बात करेें तो इस फिल्म ने सिर्फ हिंदी में ही अच्छा बिजनेस नहीं किया है। इसने तमिलतेलगू भाषाओं में भी अच्छा बिजनेस किया है। साथ ही विदेशों में भी कीर्तिमान रच रही है। अब इस फिल्म को देखकर हर कोई  हजार करोड़ कमाने वाली फिल्म बनाना चाहे तो वेवकूफी होगी। हर फिल्म बाहुबली नहीं हो सकती। बाहुबली के डायरेक्एटर एस एस राजामौली ने भी जब यह फिल्म बनाना शुरु किया होगा तो उन्होंने भी नहीं सोचा होगा कि फिल्म इतनी ज्यादा कमाई करेगी। उन्होंने एक अच्छी फिल्म बनाने की मंशा से ही इस यात्रा को अंजाम दिया। साथ ही राजामौली को तकनीकि का भी अच्छा ज्ञान हैइसके अलावा उनका विजन भी क्लियर था। 

Loading Comments

संबंधित ख़बरें

© 2018 MumbaiLive. All Rights Reserved.