‘ओन्ली फोर्टी’ – महेश मांजरेकर का नया फंडा

मुंबई - मराठी सिनेमा इन दिनों काफी नुकसान से गुजर रही है। और इसका कारण है मराठी फिल्म इंडस्ट्री मे बढ़ती फिल्मों की संख्या। हर साल मराठी सिनेमा में 100 से भी ज्यादा फिल्में बनती है। जबकी फिल्मों का सक्केस रेट 4 से 5 प्रतिशत है। जाहीर तौर पर भविष्य में मराठी फिल्मों की संख्या कम होगी। मुंबई लाइव के शो हैंगआउट विथ में जानेमाने अभिनेता महेश मांजरेकर ने कहा की मराठी फिल्मो की तादाद साल में 40 रहनी चाहिए। मौके पर मांजरेकर ने गोवा में हुए अंतराष्ट्रीय चित्रपट महोत्सव में मराठी सिनेमा के बारे में बात की। साथ ही माजरेंकर ने आनेवाली फिल्म ‘ध्यानीमनी’, ‘रुबिक्स क्यूब’, ‘एफयू’ पर भी दिलखोल के चर्चा की।

Loading Comments