पर्यावरणविदों ने दादर में बीएमसी अधिकारियों को पेड़ काटने से रोकने पर किया मजबूर!

गुरुवार की सुबह, जब वृक्ष प्राधिकरण के अधिकारी पेड़ काटने के लिए वैद्य रोड पर आए तो पर्यावरणविदों ने उन्हे पेड़ काटने से मना किया , जिसके बाद पर्यावरणविदों ने बीएमसी अधिकारियों के खिलाफ शिवाजी पार्क पुलिस स्टेशन में काम रोकने के बाबत शिकायत भी दर्ज कराई।

  • पर्यावरणविदों ने दादर में बीएमसी अधिकारियों को पेड़ काटने से रोकने पर किया मजबूर!
  • पर्यावरणविदों ने दादर में बीएमसी अधिकारियों को पेड़ काटने से रोकने पर किया मजबूर!
SHARE

आखिरकार दादर के डीएल वैद्य मार्ग पर 51 पेड़ो को काटने से बीएमसी की अधिकारियों को रोक दिया गया। जड़ों से पेड़ों को काटना अनधिकृत है और जब कुछ पर्यावरणविदों ने यह महसूस किया, तो वे तुरंत गलत कार्य रोकने के लिए पहुंचे। पर्यावरणविद् कुणाल बिरवाडकर ने मुंबई लाइव से बात करते हुए कहा की " "गुरुवार की सुबह, पर्यावरणविदों ने अधिकारियों को पेड़ ना काटने के लिए कहा और अत: में शुक्रवार तक इसे रोकने में सफल रहे।"



9 जून को बारिश के कारण कुछ पेड़ो की जड़े कमजोर हो गई थी, जिसके कारण कुछ लोग घायल भी हुई थे। बीएमसी अधिकारियों ने इस घटना के बाद इलाके में 18 सेमी तक पेड़ो को काटने की बजाय उन्हे जड़ से ही काटने लगे , जिसका विरोध स्थानिय लोगों के साथ साथ पर्यावरणविदों ने भी किया। इतना ही नहीं, अधिकारियों ने दादर पश्चिम के साथ साथ डी.एल. वैद्य मार्ग पर भी की पेड़ो को जड़ से काट दिया था।

यह भी पढ़े- मुंबई में दिखा बारिश का कहर, पेड़ गिरने से एक की मौत

पेड़ो को जड़ो से काटना कानून अपराध

दरअसल  कानून के मुताबिक पेड़ो को जड़ो से काटना कानून अपराध है ,इसकी जानकारी होने के बाद भी बीएमसी के वृक्ष प्राधिकरण के अधिकारी इस इलाके में पेड़ो को जड़ों से काटने आए थे, जब इस बात की जानकारी स्थानिय लोगों और पर्यावरण प्रेमियों को मिली तो उन्होने तुरंत मौके पर पहुंचकर इसका विरोध शुरु कर दिया। वैद्य मार्ग पर मंगलवार से इस कटाई का कार्य शुरु किया गया था, हालांकी काम रुकवाने तक 10 से अधिक पेड़ पूरी तरह से काट दिये गए थे।

सोमवार को फिर से शुरु कर सकते है पेड़ो को काटने का काम

गुरुवार की सुबह, जब वृक्ष प्राधिकरण के अधिकारी पेड़ काटने के लिए आए तो पर्यावरणविदों उन्हे यह कार्य करने से मना किया और इसका विरोध किया। काम को रोकने की कोशिश की और बाद में बीएमसी अधिकारियों के खिलाफ शिवाजी पार्क पुलिस स्टेशन में बीएमसी अधिकारियों के खिलाफ काम को ना रोकने की शिकायत भी दर्ज कराई। हालांकी पेड़ो की कटाई की कम को फिलहाल के लिए रोक दिया गया है लेकिन सोमवार से यह कार्य फिर से शुरु हो सकता है, क्योकी वृक्ष प्राधिकरण के अधिकारियों ने बताया कि वरिष्ठों द्वारा लिया गया निर्णय ही अंतिम होगा।

कुणाल ने  कहा की यदि सोमवार को छंटनी का काम फिर से शुरू होता है, तो वह सुनिश्चित करेंगे कि वह इसे फिर से रोक दे। वैद्य रोड के कुछ पेड़ 150 साल से अधिक पुराने हैं। निवासियों ने उन जगहों पर पेड़ों को फिर से बोया है जहां पेड़ों को अधिकारियों ने उखाड़ फेंक दिया था।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें