मकरंद सोसायटी स्वच्छता की मिसाल

 Mumbai
मकरंद सोसायटी स्वच्छता की मिसाल
मकरंद सोसायटी स्वच्छता की मिसाल
मकरंद सोसायटी स्वच्छता की मिसाल
मकरंद सोसायटी स्वच्छता की मिसाल
See all

मुंबई के माहिम में समुद्री किनारों से सटे रिहायशी इलाकों में एक है मकरंद सोसायटी।  मकरंद सोसायटी पीएम नरेंद्र मोदी के सपने को साकार करने की राह में चल पड़ा है। यह सोसायटी पूरी तरह से स्वच्छ है। कचरे को नियोजित करके इस सोसायटी ने एक तरह से मनपा का काम भी हल्का किया है।


इस सोसायटी में साफ़ सफाई करने वाली दो महिलाए हैं, जिनका नाम  सरला गुलाब पाटील (45) आणि गंगू दगडू शिंदे (30) है। यहां जमा कचरे से खाद बनाई जाती है और उस खाद का उपयोग पेड़ पौधे को देने के लिए होता है। इसीलिए यह सोसायटी साफ और हरा भरा दिखाई देता है।

छह मंजिला ईमारत मकरंद सोसायटी में कुल 30 फ़्लैट हैं जिनमें 120 परिवार रहते हैं। लेकिन कचरे को नियोजन करने से यह खुबसूरत और साफ़ सुथरा दिखाई देता है।  इस जी/नार्थ विभाग विभाग के अध्यक्ष अशोक रावत ने बताया कि जिस पानी का प्रयोग पेड़ों की सिंचाई के लिए किया जाता है उसी पानी का प्रयोग टॉयलेट में भी किया जाता है जिससे पानी की बचत और नियोजन होती है।

अगर मकरंद सोसायटी की तरह मुंबई की सभी सोसायटियों ने अपना कचरे का नियोजन करना सीख लिया तो मुंबई शहर को स्वच्छ शहर और हरित शहर बनने से कोई नहीं रोक सकता।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 

Loading Comments