पटाखे हटाओ, मुंबई बचाओ

चेंबूर- आरसीएफ मैदान में वैसे तो दिवाली से पहले पटाखे नहीं फोड़े जाते लेकिन पटाखों की तीव्रता जांचने के लिए महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण मंडल और आवाज फाउंडेशन द्वारा यहां पटाखे फोड़े जा रहे हैं। पिछले 6 साल से महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण मंडल और आवाज फाउंडेशन द्वारा यह प्रयोग करके पटाखों के प्रति जनजागृति भी किया जाता है। बुधवार को 26 प्रकार के पटाखों की तीव्रता जांची गई। जिसमें से अनेक पटाखों की तीव्रता में कमी पाई गई। मुंबई में बढ़ते प्रदूषण के लिए इस बार नागरिकों से पटाखे मुक्त दिवाली मनाने का आह्वान मंडल के अधिकारियों द्वारा किया गया।

Loading Comments