ऐसे मनाएं करवां चौथ...

 Mumbai
ऐसे मनाएं करवां चौथ...

करवा चौथ का त्योहार हर सुहागन के लिए काफी अहम होता है। इस दिन सुहागन दिनभर व्रत रखकर अपने पति की लंबी उम्र की मनोकामना मानती है।  रात में चांद देखने के बाद सुहागन अपना व्रत तोड़ती है। करवाचौथ के दिन हर विवाहिता अपने आपने को अपने पति के लिए श्रृगांरित करती है।  करवाचौथ इस साल 8 अक्टूबर यानी की आनेवाले रविवार को मनाया जाएगा, भले ही करवाचौथ में अभी थोड़ समय हो, लेकिन विवाहिता इसके लिए पहले से ही तैयारियां शुरु कर देती है।  

भारत में वैसे तो हर राज्य में करवा चौथ मनाया जाता है लेकिन  पंजाब, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, मध्य प्रदेश और राजस्थान में इसकी खास मान्यता है।  करवाचौथ कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है।   स्त्री किसी भी आयु, जाति, वर्ण, संप्रदाय की हो, सभी इस व्रत को रख सकती है।  

कैसे करें करवा चौथ की पूजा

  • प्रात: काल में नित्यकर्म से निवृ्त होकर संकल्प लें और व्रत आरंभ करें
  • व्रत के दिन निर्जला रहें यानि किसी भी तरह का जलपान ना करें
  • व्रत के दिन भोर में स्नानादि करने के पश्चात यह संकल्प लेकर व्रत का आरंभ करें
  • घर के मंदिर की दीवार पर गेरू से फलक बनाकर चावलों को पीसे।  फिर इस घोल से करवा चित्रित करें।  इस रीती को करवा धरना कहा जाता है।
  • शाम के समय, माँ पार्वती की प्रतिमा की गोद में श्रीगणेश को विराजमान कर उन्हें लकड़ी के आसार पर बिठाए।
  • माँ पार्वती का सुहाग सामग्री आदि सामानों  से श्रृंगार करें।
  • भगवान शिव और माँ पार्वती की आराधना करें और कोरे करवे में पानी भरकर पूजा करें।
  • स्त्रियां पूरे दिन का व्रत कर व्रत की कथा का श्रवण करें।
  • शाम रात में चंद्रमा के दर्शन करने के बाद ही पति द्वारा अन्न एवं जल ग्रहण करें।
  • पति, सास-ससुर सब का आशीर्वाद लेकर व्रत को समाप्त करें।



करवा चौथ पर क्या है ट्रेंड में

कपड़े-  वैसे तो ज्यादातर महिलाएं सरवा चौथ पर साड़ियां ही पहनना पसंद करती है ,लेकिन समय के साथ साथ अब पहनावे में भी बदलाव आने लगे है।  साड़ी, सूट या लहंगा आजकल लोगों को ज्यादा पसंद आती है।  इनके अलावा साड़ी के साथ कमरबंद, सूट के धोती स्टाइल सलवार और लहंगे के साथ चुनरी को मिक्स एंड मैच करके पहनने का भी प्रचलन काफी समय से शुरु हुआ है।  

मेंहदी- करवाचौथ में सबसे अहम साजवट में से एक होती है मेंहदी।  करवाचौथ के दिन अपने हाथों को मेहंदी से जरूर सजाएं। मेंहदी का रंग जितान गाढ़ा होता है उतना ही शुभ माना जाता है।  

चुड़ीयां - चुड़ियां सुहागन के लिए सबसे अहम होती है, चुड़ियों का मतलब होना की उसका सुहाग सही सलामत है, बाजार में चुड़ियों के भी कई स्टाइल उपलब्ध है। आप अपने कपड़े के कलर के मैचिंग के हिसाब से चूड़ी पहन सकते है।  


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 


Loading Comments