‘मराठी सभी को बोलनी आनी चाहिए’

 Jogeshwari
‘मराठी सभी को बोलनी आनी चाहिए’

जोगेश्वरी - 27 फरवरी को मराठी दिवस मनाया जाता है। यह मराठी दिवस वरिष्ठ साहित्यकार कुसुमाग्रज के जन्मदिवस के कारण भी मनाया जाता है। कुसुमाग्रज महाराष्ट्र के बहुत बड़े साहित्यकार थे जिन्होंने कई कहानी, संगीत, कविता लिखे हैं। इसी मराठी दिवस के अवसर पर जोगेश्वरी पूर्व के जमनाधर अग्रवाल माध्यमिक विद्यालय अस्मिता स्कूल में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में स्कूल के सभी बच्चे और उनके माता पिता उपस्थित थे। इस स्कूल के पर्यवेक्षक संतोष फडतरे पाटिल ने बताया कि स्कूल में यह कार्यक्रम पिछले 20 सालों से मनाया जा रहा है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य बच्चों को मराठी भाषा के प्रति जागरूकता पैदा करना और सांस्कृतिक कार्यक्रम के माध्यम से बच्चों में सांस्कृतिक विकास के गुण पैदा करना है।

इस कार्यकम में प्रमुख अतिथि के रूप में मुंबई लाइव न्यूज़ वेबसाइट और न्यूज़ एप्लीकेशन के संपादक स्वप्निल सावरकर उपस्थित थे। स्वप्निल सावरकर ने अस्मिता स्कूल के विद्यार्थियों और टीचर्स की तरफ से लिखे गये ‘रूची वाचकांची व अविष्कार’ पुस्तक का विमोचन किया और कार्यक्रम में भाग लिए हुए बच्चों को इनाम भी दिया। सावरकर ने बच्चों का मार्गदर्शन भी किया।

स्कूल के प्रिंसिपल कैलाश पाटिल ने बच्चों और उनके अभिभावकों को मराठी भाषा के महत्व के बारे में बताया और मराठी को महाराष्ट्र की राज्यभाषा बताते हुए कहा कि इसे सभी लोगों को बोलना चाहिए और इसके लिए सभी को जागरूक भी करना चाहिए।

Loading Comments