Advertisement

बारिश में बढ़ा बीमारियों का कहर, मुंबई के अनेक अस्पताल नॉन-कोविड में होंगें तब्दील

बीएमसी द्वारा शुरू किए गए नियंत्रण कक्ष के माध्यम से कोरोना के मरीजों को नर्सिंग होम के साथ-साथ शहर के हर वार्ड में छोटे अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

बारिश में बढ़ा बीमारियों का कहर, मुंबई के अनेक अस्पताल नॉन-कोविड में होंगें तब्दील
SHARES

पिछले 5 महीनों से कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रकोप से पीड़ित नागरिक अब अब अन्य बीमारियों का भी सामना कर रहे हैं। मॉनसून के मौसम के दौरान अन्य बीमारियो का प्रकोप भी बढ़ जा रहा है। हालांकि, इस साल कोरोना के साथ अन्य बीमारियों के बढ़ने साथ ही नागरिकों में चिंता का माहौल है। कोरोना की बढ़ती घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए, बीएएमसी (BMC) ने छोटे नर्सिंग होम और अस्पतालों के साथ-साथ निजी अस्पतालों में भी कोरोना रोगियों को भर्ती करने का निर्देश दिया था। हालांकि, बारिश से होने वाली बीमारियों की चुनौती को देखते हुए, ये अस्पताल अब नॉनकोविड (Non-COVID) होने जा रहे हैं।

अंतिम कोरोना रोगी को घर भेजने के बाद, कोरोना के अलावा अन्य बीमारियों के उपचार के लिए 70 अस्पताल खोले जाएंगे। बरसात के मौसम में मलेरिया, डेंगू, लेप्टोस्पायरोसिस और अन्य संक्रामक बुखार की घटनाओं में वृद्धि की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष जुलाई और अगस्त में मलेरिया रोगियों की संख्या अधिक थी। साथ ही 2 मरीज मलेरिया के कारण मर गए हैं।

यह भी पढ़ें: मीरा-भायंदर में बुधवार को COVID-19 के 115 नए केस, 5 की मौत

बीएमसी द्वारा शुरू किए गए नियंत्रण कक्ष के माध्यम से कोरोना के मरीजों को नर्सिंग होम के साथ-साथ शहर के हर वार्ड में छोटे अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। हालाँकि, अब कोरोना के रोगियों की संख्या नियंत्रण में है, नए संक्रमित रोगियों की पहुंच बड़े अस्पतालों के साथ-साथ जंबो सुविधाओं, कोरोना देखभाल कक्षों तक होगी।

शाम की ओपीडी कुछ उपनगरीय अस्पतालों में उपलब्ध हैं, जिसमें बीएमसी का केईएम भी शामिल है। अब इन ओपीडी से मरीजों को चिकित्सा सेवा उपलब्ध कराई जाएगी। कोरोना के प्रकोप के नियंत्रण में आने के बाद, पालिका ने पिछले महीने नायर अस्पताल को एक गैर-कोविड अस्पताल में बदल दिया है, जिसके कुछ विभागों को चरणों में फिर से खोल दिया गया है।

यह भी पढ़ें: ED ने तबलीगी जमात के 20 जगहों पर की छापेमारी

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें