Advertisement

रेमडेसिवीर इंजेक्शन की जानकारी मिलेगी बस एक फोन पर, हेल्पलाइन होगी शुरू

ऑक्सीजन आपूर्ति नियंत्रण कक्ष के टोल-फ्री नंबर 1800222365 पर भी फोन कर मरीज और उनके रिश्तेदार इस इंजेक्शन के बारे में अधिक जानकारी ले सकते हैं।

रेमडेसिवीर इंजेक्शन की जानकारी मिलेगी बस एक फोन पर, हेल्पलाइन होगी शुरू
SHARES

कोरोना वायरस (Corinavirus) जैसी महामारी में रेमडेसिवीर (remdesivir) इंजेक्शन के कमी होने और इसके तय कीमत से अधिक दर पर बेचे जाने की बात सामने आ रही है। इसलिए अब सरकार ने इस पर लगाम लगाने का फैसला किया है। खाद्य एवं औषधि प्रशासन मंत्री डॉ. राजेन्द्र शिंगणे  (food and drug minister rajendra shingane) ने इस बाबत एक हेल्पलाइन (helpline) शुरू करने का निर्देश दिया है। इससे मरीजों और उनके रिश्तेदारों को एक सिंगल कॉल पर रेमडेसिवीर इंजेक्शन की जानकारी मिल सकेगी।

इसके अलावा शिंगणे ने बताया कि, अगर ऑक्सीजन सप्लाई कंट्रोल रूम के टोल-फ्री नंबर पर भी संपर्क किया जाता है, तो इंजेक्शन आसानी से उपलब्ध कराने के लिए उन्होंने हेल्पलाइन शुरू करने का निर्देश प्रशासन को दिया है।

इसलिए, ऑक्सीजन आपूर्ति नियंत्रण कक्ष के टोल-फ्री नंबर 1800222365 पर भी फोन कर  मरीज और उनके रिश्तेदार इस इंजेक्शन के बारे में अधिक जानकारी ले सकते हैं।

डॉ. शिंगणे ने राज्य में रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की आपूर्ति की समीक्षा बैठक का संचालन किया। इस बैठक में चिकित्सा शिक्षा और फार्मास्यूटिकल्स सचिव सौरव विजय, एफडीए आयुक्त अरुण उहले, सतर्कता संयुक्त आयुक्त सुनील भारद्वाज और उत्पादक कंपनी और वितरकों के प्रतिनिधियों ने भी हिस्सा लिया था।

बैठक के दौरान, शिंगणे ने उत्पादक कंपनियों को महाराष्ट्र में रेमडेसिविर इंजेक्शन के अधिकतम स्टॉक उपलब्ध कराने का निर्देश दिया, ताकि इंजेक्शन की कोई कमी न हो, और आसानी से सुदूर गांवों तक भी आम लोगों को आसानी से उपलब्ध हो सके।

शिंगणे ने प्रशासन को यह भी निर्देश दिया कि, किस जगह और कितने रेमडेसिविर इंजेक्शन उपलब्ध है और यह मरीजों और नागरिकों को आसानी से उपलब्ध हो जाए, इस बारे में जानकारी देने के लिए एक हेल्पलाइन नंबर या पोर्टल स्थापित किया जाए।


यह हेल्पलाइन मरीजों को इंजेक्शन की जानकारी आसानी से उपलब्ध कराने में मदद करेगी। साथ ही वर्तमान में, निर्माताओं और उनके वितरकों ने कहा कि राज्य में 15,779 इंजेक्शन उपलब्ध हैं और लगभग 1.50 लाख इंजेक्शन 30 सितंबर तक उपलब्ध होंगे। मरीजों या उनके रिश्तेदारों को निर्देश दिया गया है कि वे रेमडेसिविर इंजेक्शन की तत्काल उपलब्धता या अधिक जानकारी मुंबई स्थित एफडीए के ऑक्सीजन सप्लाई कंट्रोल रूम से भी प्राप्त कर सकते हैं।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
Advertisement