चीन से मुंबई आये दो लोगों मे मिले कोरोना वायरस के लक्षण

दोनों ही लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है

SHARE

बीएमसी के एक स्वास्थ्य अधिकारी ने शुक्रवार को कहा कि चीन से लौटे दो लोगों को कोरोना वायरस के  संभावित संपर्क के कारण मेडिकल देखरेख में रखा गया है।  इस बीमारी के कारण चीन में काफी लोग संक्रमित हो रहे है।  चीन में कोरोना वायरस  के मद्देनजर, बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) ने चिंचपोकली के कस्तूरबा अस्पताल में विशेष वार्ड बनाया है।बीएमसी की स्वास्थ अधिकारी पद्मजा केसकर का कहना है की" कोरोनावायरस संक्रमण होने के संदेह वाले व्यक्तियों के निदान और उपचार के लिए इस  वार्ड को बनाया गया है"

कस्तूरबा अस्पताल के सूत्रों के अनुसार, उन्होंने कोरोनो वायरस के बारे में महाराष्ट्र सरकार से विस्तृत निर्देश प्राप्त किए हैं और बीमारी से कैसे निपटा जाए, इसके लिए उन्हें कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। कोरोना वायरस वायरस का एक बड़ा परिवार है जो आम सर्दी से लेकर तीव्र श्वसन सिंड्रोम तक की बीमारियों का कारण बनता है। चीन से फैल रहे कोरोनावायरस की आशंका के चलते भारत में सुरक्षात्मक कदम उठाए गए हैं। मुंबई, दिल्ली, कोलकाता समेत देश के 7 एयरपोर्ट पर चीन से आने वाले यात्रियों की स्वास्थ्य जांच की जा रही है। मुंबई के छत्रपति शिवाजी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर 5 दिन के भीतर 1789 यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई है।

चीन में कोरोना वायरस का कहर जारी है। इस नए तरह के घातक कोरोना वायरस ने अब तक 25 लोगों की जान ले ली है और करीब 800 से अधिक लोग इसकी चपेट में हैं। कोरोना वायरस की भयावहता को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने चीन में इमरजेंसी की घोषणा कर दी है।चीन में घातक कोरोना वायरस के प्रसार के कारण कई शहरों में आवाजाही पूरी तरह रोक दी गयी है। कुछ शहरों मसलन वुहान को पूरी तरह सील कर दी गई है। अगले आदेश तक इस शहर में पूरी तरह से आवाजाही पर रोक लगा दी गई है। 

कस्तूरबा अस्पताल के सूत्रों के अनुसार, उन्होंने कोरोनो वायरस के बारे में महाराष्ट्र सरकार से विस्तृत निर्देश प्राप्त किए हैं और बीमारी से कैसे निपटा जाए, इसके लिए उन्हें कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। कोरोना वायरस वायरस का एक बड़ा परिवार है जो आम सर्दी से लेकर तीव्र श्वसन सिंड्रोम तक की बीमारियों का कारण बनता है। 

कोरोना वायरस के असर के लक्षण
वायरस लोगों को बीमार कर सकते हैं, आम तौर पर श्वसन तंत्र की बीमारी के साथ या एक आम सर्दी के समान। कोरोना वायरस के लक्षणों में नाक बहना, खांसी, गले में खराश, कभी-कभी सिरदर्द और शायद बुखार शामिल हैजो कुछ दिनों तक रह सकता है। कमजोर प्रतिरोधक क्षमता वाले लोगों यानी जिनकी रोगों से लड़ने की ताकत कम है ऐसे लोगों के लिए यह घातक है। बुजुर्ग और बच्चे इसके आसान शिकार हैं।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें