Advertisement
COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
43,43,727
Recovered:
36,09,796
Deaths:
65,284
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
55,601
3,028
Maharashtra
6,39,075
62,194

महाराष्ट्र को मुफ्त टीकाकरण के लिए इतने ’टीकों की आवश्यकता होगी, होगा इतना खर्च!

क्या महाराष्ट्र में 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी नागरिकों को मुफ्त कोरोना वैक्सीन देना संभव है? वास्तव में कितने टीके लगेंगे?

महाराष्ट्र को मुफ्त टीकाकरण के लिए इतने ’टीकों की आवश्यकता होगी, होगा इतना खर्च!
SHARES

क्या महाराष्ट्र में 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी नागरिकों को मुफ्त कोरोना वैक्सीन देना संभव है?  वास्तव में कितने टीके लगेंगे?  इस टीके को खरीदने में कितना खर्च आएगा? क्या राज्य लागत वहन करेगा?  राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (Rajesh tope)  ने इन सभी सवालों के जवाब दिए।

18 साल से अधिक उम्र के नागरिकों का टीकाकरण भी 1 मई से शुरू होगा।  इस चरण में बड़ी संख्या में नागरिकों के कारण, यह चर्चा की जा रही है कि क्या राज्य के लिए सभी को मुफ्त टीकाकरण (Free vaccination)   करना संभव होगा।  प्रेस कॉन्फ्रेंस में जानकारी देते हुए राजेश टोपे ने कहा, क्या राज्य के सभी नागरिकों को मुफ्त वैक्सीन दी जानी चाहिए?  कैबिनेट की बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा की जाएगी।  इस बैठक में टीकाकरण पर निर्णय लिया जाएगा और इस निर्णय की घोषणा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे  (Uddhav thackeray) करेंगे।


1 मई से, 18 से 44 वर्ष के बीच के नागरिकों को भी टीका लगाया जाएगा।  इन नागरिकों को टीका लगाने की जिम्मेदारी राज्यों में स्थानांतरित कर दी गई है।  महाराष्ट्र सरकार इस जिम्मेदारी को स्वीकार करने के लिए तैयार है।  हमने स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से कैबिनेट को एक नोट तैयार किया और भेजा है।  यह अलग-अलग विकल्प और आंकड़े देता है कि अगर यह मुफ्त में दिया जाता है तो कितना खर्च आएगा, अगर यह मुफ्त में कुछ घटकों के लिए दिया जाता है तो कितना खर्च आएगा।  कैबिनेट की बैठक में चर्चा के बाद अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

महाराष्ट्र में 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों की संख्या 5 करोड़ 71 लाख के बीच है।  अगर ये सभी लोग चाहते हैं कि दोनों टीकों की खुराक दी जाए, तो हमें 12 करोड़ टीकों के बीच की आवश्यकता होगी।  इसकी लागत 7,500 करोड़ रुपये तक जाएगी।

राज्य सरकार टीके खरीदकर टीकाकरण के लिए पूरी तरह से तैयार है।  लेकिन महत्वपूर्ण सवाल यह है कि क्या वर्तमान में इतने टीके उपलब्ध हैं।  या आने वाले दिनों में इतने सारे स्टॉक होंगे?

हमने देश में दोनों वैक्सीन निर्माताओं को लिखा है, अर्थात् कोविशिल्ड के लिए सीरम और कोविन के लिए भारत बायोटेक।  लेकिन पिछले दो दिनों से उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं मिला है, राजेश टोपे ने बताया।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें