Advertisement

ओमिक्रोन के बढ़ते असर को देखते हुए केंद्र सरकार ने राज्यो को लिखा पत्र

देश में ओमाइक्रोन के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है, ऐसे में केंद्र सरकार ने सभी राज्य सरकारों को पत्र लिखा है

ओमिक्रोन के बढ़ते असर को देखते हुए केंद्र सरकार ने राज्यो को लिखा पत्र
SHARES

देश में ओमाइक्रोन (omicron) के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है, ऐसे में केंद्र सरकार ने सभी राज्य सरकारों को पत्र लिखा है।  केंद्र के मुताबिक, ओमाइक्रोन पुराने डेल्टा वेरिएंट (Delta)  की तुलना में तीन गुना तेजी से आगे बढ़ रहा है। इसलिए केंद्र ने कहा है कि इसे गंभीरता से लेने की जरूरत है।

केंद्र सरकार ने सभी राज्यों को पत्र भेजे हैं।  इसमें कहा गया है कि ओमाइक्रोन की पृष्ठभूमि में वॉर रूम को सक्रिय करने की जरूरत है।  ओमाइक्रोन और डेल्टा दोनों ही वायरस इस समय देश में व्याप्त हैं।  इसलिए, स्थानीय और जिला स्तर पर कार्रवाई करने की तत्काल आवश्यकता है।केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने पत्र में कहा कि देश में कोरोना और ओमाइक्रोन की स्थिति की जानकारी दी गई है।कुछ राज्यों में, ओमाइक्रोन को अभी तक पेश नहीं किया गया है।  इसलिए इससे कैसे बचा जाए इसकी जानकारी दी गई है।  यदि आवश्यक हो तो रात्रि कर्फ्यू से बचने के लिए कर्फ्यू के सख्त नियम लागू किए जाएं।

केंद्र की ओर से भेजे गए पत्र में शत-प्रतिशत टीकाकरण पर ध्यान देने का सुझाव दिया गया है। डोर-टू-डोर ओमाइक्रोन परीक्षण भी किया जाना चाहिए।  

इस बीच देश में ओमाइक्रोन की संख्या 202 पहुंच गई है।  सबसे ज्यादा मरीज दिल्ली और महाराष्ट्र में हैं।  इन दोनों राज्यों में से प्रत्येक में 54-65 ओमक्रोन मरीज हैं।

राज्य में ओमिक्रॉन पीड़ितों की कुल संख्या अब 65 तक पहुंच गई है।  क्रिसमस और नए साल की पूर्व संध्या पर ओमाइक्रोन का बढ़ता फैलाव स्वास्थ्य विभाग के लिए सिरदर्द बनता जा रहा है।

मंगलवार को मिले 11 ओमिकरन पीड़ितों में से आठ मुंबई हवाई अड्डे पर स्क्रीनिंग के दौरान पाए गए।  तो, पिंपरी-चिंचवड़, उस्मानाबाद और नवी मुंबई में एक-एक मरीज मिला।  अब तक पाए गए 65 ओमाइक्रोन अवरोधकों में से 34 को आरटीपीएसआर परीक्षण नकारात्मक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

राज्य में मंगलवार को कुल 825 नए कोरोना संक्रमित मरीज दर्ज किए गए।  14 कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है।  792  मरीज ठीक होकर  घर लौट चुके हैं।

यह भी पढ़ेबुधवार से शुरू होगा महाराष्ट्र का शीतकालीन अधिवेशन

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें